Computer RAM क्या होता है | RAM की पूरी जानकारी Hindi में

क्या आपको पता है RAM का क्या काम होता है कंप्यूटर में , क्या आप जानते है कि RAM क्या होता है, तो दोस्तो आज हम जानेंगे कि RAM क्या है, और RAM का इस्तेमाल कैसे होता है. जो लोग कंप्यूटर चलाते है और जिसको कंप्यूटर के बारे में जानकारी चाहिए उसके लिए ये आर्टिकल अच्छी साबित होगी.

RAM क्या है?

RAM का Full Form “Random Access Memory” है जो कंप्यूटर की CPU की Motherboard में लगा रहता है. RAM एक छोटा सा लंबा सॉकेट जैसा होता है जो किसी क्लिप के सहारे CPU में लगाये जाते है. RAM को Primary Memory भी कहा जाता है.

RAM क्या होता है

आजकल RAM को समझना कोई मुश्किल सवाल नही है क्योंकि जब भी कोई Smartphone या Computer की खरीदने की बात होती है या बेचने की बात होती है. RAM को आम सवाल के लिए इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि आजकल RAM भी Mobile में 8 GB से 16 GB तक कि मिलने लगा है. एक टाइम था जब मोबाइल में 512 GB RAM को लगाकर दिया जाता था. शायद उस टाइम कोई RAM के बारे में नही जानता होगा.

अभी के जमाने मे RAM कोई नया नाम नही है क्योंकि आज जमाना डिजिटल हो है सभी को RAM के बारे तथा और भी बहुत सारी टेक्नोलॉजी के बारे बताने की कोई जरूरत नही होती है क्योंकि आजकल के बच्चे सुबह उठते ही है मोबाइल के साथ और सोते भी है मोबाइल के साथ.

मेरा मतलब ये है कि सोते टाइम भी Mobile या कंप्यूटर इस्तेमाल करके सोता है और जब जगत है तो पहले मोबाइल ही देखता है.

RAM को मैंन मेमोरी या प्राथमिक मेमरी इसलिए भी कहा जाता है कि इसमें कुछ समय के लिए वे सारे काम स्टोर रहता है जब कोई कंप्यूटर में काम करता है. जब आप किसी एप्लीकेशन (Software) को चालू करता है तो पहले RAM में खुल कर ही आपके मॉनिटर के सामने वो एप्लीकेशन रन करता है.

अगर संक्षेप में कहा जाए तो RAM उन सभी एप्लीकेशन को चलने में प्राइमरी काम करता है. क्योंकि जब तब वो सॉफ्टवेयर चल रहा है, जब तक एप्लीकेशन पर काम हो रज होता है RAM Use किया जाता है.

RAM में कोई भी Data उस समय तक ही रहता है जब तक कोई Device या Computer को Shut Down न किया जाए. जब तक कंप्यूटर चालू रहता है तभी तक वो Data हमारे सामने रहता है मतलब की RAM में रहता है इसलिए RAM को Volatile Memory भी कहा जाता है.

आपको RAM के बारे में पढ़ने का जरूरी तभी आता है जब आप एक कंप्यूटर ऑपरेटर हो, जब आप एक कंप्यूटर शिक्षक हो या हो सकता है आप एक कंप्यूटर छात्र (Student) हो जो कंप्यूटर की पढ़ाई कर रहे है. RAM की जानकारी आपको बहुत जगह काम मे आएगी जैसे कि परीक्षा के सवालों में या कोई भी Computer PC को Repair करने के दौरान या Computer System को Accemble करने के दौरान होता है. आगे आप जानेंगे कि RAM की क्या-क्या विशेषताएँ होती है.

RAM की क्या-क्या विशेषताएँ होती है?

RAM (Random Access Memory) जो आम स्टोरेज से बिल्कुल अलग होती है जो Memory नाम के अंदर तो आता है, लेकिन इसमे Deta स्टोर नही रहती है. RAM (Random Access Memory) में Deta थोड़ा देर के लिए रहती है जबतक कंप्यूटर बंद न हो जाये. अगर कंप्यूटर को बंद करके फिर से दोबारा चालू किया जाए तो RAM (Random Access Memory) बिल्कुल नई जैसा मिलेगा मतलब की RAM में कोई भी जानकारी नही रहेगा.

चूंकि RAM (Random Access Memory) एक प्राइमरी मेमोरी है और RAM के बिना कंप्यूटर को चालू कभी नही किया जा सकता है. RAM यदि कंप्यूटर में न लगा हो या RAM कंप्यूटर में खराब हो गया हो तो आपकी computer system कभी चालू नही होगी. क्योंकि RAM CPU का part होता है और RAM (Random Access Memory) के बिना कंप्यूटर का इस्तेमाल करना नामुमकिन होता है.

RAM को CPU में खड़ा करके लगाया जाता है क्योंकि RAM कंप्यूटर की एक नाजुक चीज होती है इसलिए जब भी अपनी कंप्यूटर की RAM को निकाले या फिर उसे दोबारा लगाए या RAM को साफ करें तो बिल्कुल सतर्कता से लगाना होता है. क्योंकि RAM बहुत जल्दी खराब हो सकता है अगर वो कही से टूट गया हो तो साथ ही आपको ये भी बता दे कि RAM को खरीदना थोड़ा महंगा हो सकता है. Computer RAM की 2 GB की कीमत लगभग ₹3000 तक कि हो सकती है जो कंपनी और प्रोडक्ट के हिसाब से हो सकता है.

RAM को आप किसी अच्छा और Authorised Shop से ही लेना चाहिए क्योंकि अगर अपने कोई Local Market में लेने का कोशिश किये तो आपको नकली RAM भी दिया जा सकता है. आप RAM कही से भी लीजिये इसमे कोई दिक्कत की बात नही है लेकिन जब भी खरीदे किसी कंप्यूटर की जानकर, जो Computer Knowledge को जनता हो उससे संपर्क करके ले सकते है या कोई Authorised Company की RAM खरीदे.

भारत मे बिकने वाली कुछ मुख्य RAM निर्माताओं की कंपनी का नाम इस प्रकार है Corsair, Micron, OCZ, Mushkin, Kingston, Hynix, Transcend, Samsung, तथा Lenovo भी RAM (Random Access Memory) का निर्माता है जो काफी अच्छी कंपनी मानी जाती है.

RAM के प्रकार

RAM (Random Access Memory) दो प्रकार के होते है जिसमे पहला है SRAM और दूसरा है DRAM ये प्रकार की RAM होती है. लेकिन RAM में भी अलग-अलग जनरेशन की होती है.

SRAM क्या होता है?

दोस्तो SRAM का पूरा नाम या फूल फॉर्म Static Random Access Memory होता है, जो “Static” दर्शाता है कि RAM स्थिर रहता है. आपको ये भी बता दे कि SRAM को को Cache Memory के रूप में कार्य करता है.

SRAM क्या होता है?

SRAM का पूरा नाम “Dynemic Rendom Acess Memory” कहा जाता है इस प्रकार की RAM को लगातार Refresh करने की जरूरत होती है, तभी इसमे deta स्टोर रहता है.

इसे भी पढ़े…

Computer क्या है – कंप्यूटर का प्रकार, जनरेशन की पूरी जानकार
Online पैसे कैसे कमाये पूरी जानकारी हिंदी में
Domain Authority क्या है – Blog की DA कैसे बढ़ाएं?
पैसे कमाने वाली एप्प कौन कौन से है

Conclusion

आज हमने RAM (Rondom Access Memory) के बारे पूरी जानकारी हासिल कर ली हमने आज सीखा है कि RAM क्या होता है, RAM कितने प्रकार का होते है और RAM का Full Form क्या होता है. आपको ये आर्टिकल किसी लगी हमे जरूर बताइयेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here