Hindu Ko Kabu Kaise Kare, औकात में रहकर सर्च करें?

क्या आपको लगता है कि इस तरह का सवाल जवाब गूगल में सर्च होना चाहिए। हालांकि अभी  गूगल पर इस तरह के सवाल जवाब होते रहते हैं। इसीलिए आज के इस लेख में हमने हिंदू भाई को काबू में कैसे करें के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है।

इस इस लेख में मैंने Hindu Ko Kabu Kaise Kare से संबंधित पूरी और Complete जानकारी देने की कोशिश की है। क्योंकि भारत में जब से जिओ की एंट्री हुई है तब से लोग अपनी मनमर्जी के सवाल-जवाब गूगल पर करते रहते हैं। ऐसा नहीं हुई थी कि इस तरह के सवाल जवाब करने से किसी को हानि या नुकसान पहुंचता है।

लेकिन फिर भी किसी को अपना धर्म अपनी जान से भी प्यारा होता है और इस तरह के सवाल जवाब करना बहुत ज्यादा मन को हानी पहुंचाती है। दोस्तों इस आर्टिकल को लिखने से पहले नहीं देना चाहता हूं कि यह जानकारी सिर्फ शिक्षा के लिए दिया गया है मेरा मकसद किसी भी घर में किसी विशेष जाति को अच्छा बुरा कहने नहीं है।

दोस्तों उसने जब से भारत के में आई है तब से लोगों के प्रति इंटरनेट पर काफी रुझान बढ़ा है और लोग इंटरनेट पर आजकल किसी भी सवाल को सर्च करने से नहीं चूकते हैं। विशेष के मुताबिक इस सवाल का जवाब दो उसकी है कि कौन से लोग हैं जो इस तरह के सवाल को सर्च करते हैं। 

Hindu Ko Kabu Kaise Kare, सोच समझकर सर्च करें

इस सवाल का जवाब आप गूगल से नहीं बल्कि आप अपने आपसे पूछो कि आप किसी को काबू में करने के बारे में किस लिए गूगल पर सर्च किया जाता है। क्योंकि जो जैसा है जो जितना पावरफुल है वह इतना पावरफुल रहेगा ही। लेकिन इस सवाल को सच करने का मकसद के रहता है लोगों के प्रति।

तो आइए जानती हैं कि लोग इस सवाल को या तो इस तरह के बहुत सारे सवाल जवाब होते हैं जैसे कि गूगल को काबू में कैसे करें, फ्री फायर वालों को काबू में कैसे करें, मुस्लिमों को काबू में कैसे करें और ना जाने किस किस तरह के सवाल जवाब गूगल पर मिलते रहते हैं।

Hindu Ko Kabu Kaise Kare

लेकिन गूगल पर इन सभी सवालों का जवाब का कोई मतलब नहीं बनता है और ना ही कोई जोक इस सवाल का जवाब सीरियसली लेते हैं। आप सभी को पता होगा कि गूगल एक एप्स लांच की है जिसका नाम गूगल वॉइस असिस्टेंट है।

इस ऐप की यह खास फीचर है कि आप किसी भी प्रश्न को गूगल के वॉइस असिस्टेंट में अपनी आवाज के द्वारा बोलेंगे तो उसका जवाब बड़ा प्यारा देते हैं। यही कारण है कि लोग गूगल वॉइस असिस्टेंट में इस तरह के सवाल जवाब करते रहते हैं।

रिसर्च के मुताबिक यूजर्स को इसमें कोई फायदा या कोई नुकसान नहीं है। लेकिन यह यूजर्स को भी पता है कि मुझे ऐसी सवाल करके कोई फायदा नहीं है। मैंने इंटरनेट पर इस सवाल को लेकर काफी ज्यादा रिसर्च किया है सभी लोगों ने अपने अपने हिसाब से अपनी राय दी है लेकिन।

आपको बता दें कि गूगल वॉइस असिस्टेंट इन्हीं रिजल्ट को पढ़कर सामने से पूछने वाले लोगों को जवाब दिया जाता है। जैसे कि आप अभी अपनी वॉइस असिस्टेंट  एप्लीकेशन में पूछेंगे कि गूगल हिंदू को काबू कैसे करें तो आपको एक यूनिक जवाब मिलेगा जो सुनने में काफी अच्छा लगता है।

यही कारण है कि इन सभी सवालों का जवाब अभी था चलते आ रहे हैं। लेकिन आपको बता दें कि इन सभी सवालों जैसे कि गूगल को काबू में कैसे करें और बहुत प्रकार की प्रश्न होते हैं जो गूगल पर चलते आ रहे हैं उन सभी को अभी ज्यादा सर्च नहीं करना चाहिए।

साथ ही आपको जरूर बता दें कि इन सभी सवाल को सर्च करने का मकसद कभी किसी को काबू करने का नहीं होता है लेकिन वह अपनी इंटरेस्ट के हिसाब से लोग गूगल से मजे लेने के लिए इस तरह के सवाल करते रहते हैं।

हिंदू को काबू में कैसे करें क्या किसी को गूगल से ऐसी जानकारी सर्च करना शोभा देता है। क्योंकि किसी और कंट्री में भारत के अलावा इस तरह के प्रश्न नहीं  पूछा जाता है। क्योंकि वहां पर सभी लोग अपने अपने काम पर ध्यान देते हैं। और फालतू के काम को जरा तो इग्नोर करते रहते हैं क्योंकि विकासशील देशों में जहां की जनसंख्या कम है वहां के लोग अपने गांव पर ज्यादा ध्यान देते हैं।

लेकिन यहां भारत में बेरोजगारी की संख्या देनी है कि लोग मजे लेने के लिए कभी गूगल को काबू में करते हैं,कभी फेसबुक को काबू में करते हैं, तो कभी टीम को काबू में करते हैं, ना जाने किस किस तरह के सवाल गूगल पर करते रहते हैं।

हालांकि अभी नौजवानों में भारत के नौजवानों में जिओ आने के बाद फ्री फायर और पब्जी ऑनलाइन गेमिंग में काफी ज्यादा बढ़ोतरी देखा गया है। इसीलिए इस सवाल या तो कोई और भी फालतू फालतू सवाल को पूछने का चलन अभी थोड़ा कम हो रहा है।

किसी को भी काबू में क्यों करें?

भारत एक धर्मनिरपेक्ष संदेश है जिसमें सभी प्रकार की धर्म और जाति विशेष को अपनी अपनी जाती है अपनी अपनी परंपरा, अपनी संस्कृति, अपना त्यौहार सभी को मनाने की छूट है। और भारत में कभी पीछे लोग किसी दूसरे धर्म के प्रति हिंसा नहीं रखते हैं यही कारण है कि हमारा देश भारत को आज से विश्व के सभी देशों में से नंबर एक पर माना जाता है।

क्योंकि दुनिया में इतने सारे देश है और सारे देशों में एक विशेष कमेटी के लोग रहते हैं लेकिन भारत में ऐसा नहीं है। भारत में बहुत सारे जाती और बहुत सारे भाषाएं बोलने वाले लोग अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग भाषाएं बोलते हैं।

जैसे कि बंगाल में बंगाली बोलते हैं झारखंड में खोरठा बोलते हैं, बिहार में भोजपुरी, यूपी में भोजपुरी, महाराष्ट्र में मराठी तमिल में तेलुगू और उड़ीसा में उड़िया ऐसी भाषा का प्रयोग किया जाता है साथ ही आपको यह भी बता दो कि भारत में 1 राज्यों में अनेक भाषा बोला जाता है।

यह सबसे पहले जानते हैं कि भारत में 1 राज्यों में इतने प्रकार के बाद से क्यों बोले जाते हैं। जैसा कि इस लेख में मैंने पहले ही बताया है कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है जहां पर किसी को भी कहीं भी रहने की इजाजत है और अपनी कारोबार कहीं भी करने की इजाजत है।

Hindu Ko Kabu Kaise Kare

यही कारण है कि लोग एक दूसरे से जाकर दूसरे शहर और दूसरे राज्यों में काम करते हैं और वहां अपने भाषा को प्रचलित कहते हैं। धीरे-धीरे वहां रहने के कारण उन लोग वही के रह जाते हैं और वह अपनी आधे घंटे को बदलकर अपना घर कहीं और शिफ्ट कर लेते हैं जिससे कहीं भी किसी को कोई दिक्कत नहीं होती है।

यही कारण है कि भारत के 1 राज्यों में 1 से अधिक अन्य भाषा बोलने वाले लोगों का रहना बहुत ज्यादा देखा जाता है। लेकिन पूरी दुनिया में इस तरह के देश नहीं है पूरी दुनिया में एक कंट्री में या तो एक भाषा बोला जाता है या तो एक से अधिक भाषा बोला जाता है। बात बाहर के देश के राज्यों की करें तो उन सभी में एक ही भाषा को बोला जाता है और एक ही समुदाय के मुख्यतःपर लोग होते हैं। 

हिंदू को काबू में कैसे करें, औकात में रहकर सर्च करें?

काबू करना काबू करना का अर्थ होता है किसी को अपने अनुसार ढालना। काबू करने का अर्थ बहुत सारे होते हैं और उसका पर्यायवाची शब्द की बात करें तो बहुत सारे मीनिंग होते हैं। लेकिन आपको यह भी पता होगा कि काबू करने का शब्द इंटरनेट में बार-बार क्यों प्रयोग किया जाता है।

हालांकि गूगल पर काबू करने के बारे में और काबू करने जैसे शब्दों का प्रयोग बहुत ज्यादा होने लगा है। इसलिए इसमें हमने नीचे दिए गए पैराग्राफ में आपको आपको यह भी पता चलेगा कि हिंदू धर्म की क्या विशेषता होती है और हिंदू धर्म कितना पुराना है तथा हिंदू धर्म के बारे में सभी प्रकार की जानकारी इसलिए अपने मिलेगी। 

दोस्तों अच्छी बातें और अच्छी चीज सीखना और सिखाना कहो बुरा नहीं होता है। नहीं कोई धर्म होता है। किसी भी धर्म में ऐसा नहीं बोला गया है क्या आप किसी दूसरे धर्म को नुकसान पहुंचा हूं और जो धर्मों को अच्छी तरह से जानता है और मानता है वह कभी ऐसा बोल ही नहीं सकते हैं।

पृथ्वी पर आज तक ऐसा कोई धर्म नहीं पैदा हुआ है जो किसी दूसरे के धर्म के खिलाफ काबू करने की बात करता है। या किसी भी प्रकार का कोई छोटी विशेष जाति को काबू करने की बात करता है लेकिन पता नहीं आजकल की जनरेशन को क्या हो गया है यह सब उल्टा सीधा शब्द गूगल में डालकर सर्च करने की कोशिश करते रहते हैं।

धर्म में तो धर्म होता है चाहे वह किसी का भी धर्म हो चाहे हिंदू हो, मुस्लिम हो, सीख हो यस आई हो सभी को अपनी अपनी डर बहुत प्यारी होती है और इसी प्रकार से हिंदू धर्म में भी बहुत मान्यता पूर्ण धर्म है, ऐसा माना जाता है कि हिंदू धर्म विश्व की सबसे पुरानी धर्म है जिससे सनातन धर्म भी कहा गया है।

हिंदू धर्म क्या है, हिंदू धर्म की विशेषता क्या है?

हिंदू धर्म को सनातन धर्म के रूप में भी जाना जाता है और सनातन धर्म विश्व की सबसे पुरानी घर में है। आपको बता दें कि हिंदू धर्म के लोग ज्यादातर भारत, नेपाल और श्रीलंका जैसे देशों में रहते हैं। आपको यह भी बता दें कि हिंदू धर्म के लोग भारत में सबसे ज्यादा है।

हिंदू धर्म की उत्पत्ति मानव जाति की उत्पत्ति से पहले की गई है और विकीपीडिया के अनुसार यह जानकारी दिया गया है कि हिंदू धर्म में अनेक प्रकार की पूजा और अनेक प्रकार की भगवान होते हैं जिसे  हिंदू धर्म के लोगों के द्वारा उनकी पूजा की जाती है। 

हिंदू धर्म और भारत से संबंधित बहुत सारी पौराणिक कथाएं, और कहानियां निर्मित है जिससे हिंदू धर्म को पुरानी होने का प्रमाण मिलता है। इसी कारण से हिंदू धर्म को भारत में सबसे ज्यादा अपनाने वाला धर्म माना जाता है। क्योंकि भारत में मुख्यता लोग हिंदू हैं और यहां की मुख्यता मतलब की ज्यादा जनसंख्या हिंदू धर्म को मानती है।

 भारत में हिंदू धर्म के लोगों के द्वारा साल भर बड़ी-बड़ी त्यौहार मनाते हैं। ऐसा नहीं है कि हिंदू धर्म में  त्यौहार को ज्यादा महत्व नहीं देते हैं। क्योंकि आज भारत की सबसे बड़ी बड़ी तो हमारे हिंदू धर्म में ही मनाई जाती है। साथ ही आपको यह भी बता दें कि हिंदू धर्म में अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तैयार होते हैं।

अलग-अलग भाषाओं के द्वारा बोले जाने लोगों के लिए अलग-अलग त्योहार उनके लिए सर्वमान्य होते हैं। दोस्तों आपको यह भी पता होगा कि भारत के अलग-अलग राज्यों में उनके लिए सर्वमान्य परिवार अलग-अलग होते हैं। लेकिन सभी लोग मतलब कि पूरे भारत के लोग उन सभी परिवारों को एक जैसा मान्यता देते हैं।

जिस तरह से ईद पूरी दुनिया में और पूरे मुस्लिमों के लिए एक माना जाता है और सभी लोग उसे मिलजुल कर मनाते हैं उसी तरह पूरे भारत में और पूरे विश्व में जहां जहां हिंदू लोग रहते हैं। हिंदू धर्म से लिया गया  त्यौहार सभी लोग मिलजुल कर मनाते हैं।

भारत में मनाए जाने वाले हिंदू धर्म से जुड़ी बड़ी बड़ी त्यौहार जैसे कि दुर्गा पूजा, काली पूजा,  गणेश पूजा, छठ पूजा, रामनवमी, गणेश चतुर्थी और बहुत सारी त्यौहार हिंदू धर्म के लोगों के द्वारा बड़ी धूम-धाम से मनाई जाती है।

तो दोस्तों अब आपको पता लग गया होगा कि भारत में और पूरे विश्व में हिंदू धर्म के क्या योगदान है ऐसे में किसी भी धर्म को काबू करने की बात करना यह हमारी भारत की सभ्यता के दुष्परिणाम हो सकते हैं। क्योंकि धर्म की उत्पत्ति किसी भेदभाव करने के लिए नहीं किया गया है ।

घर में तो मानव जाति के लिए एक कल्याण के रूप में माना जाता है और सभी धर्मों के लोगों को प्रति सच्ची निष्ठा और सरता होनी चाहिए क्योंकि हर धर्म के मानने वाले और हर धर्म के बड़े बड़े ज्ञानी लोग इन्हीं बातों को समझाएं हैं।

वह तो धर्म के बड़े-बड़े जानकार लोग धर्म के बारे में नफरत बातें नहीं किए हैं और नहीं समझाएं हैं तो हम क्या चीज हैं। क्या क्या हम उन पंडितों और बड़े-बड़े धर्मों के रचनाकार और बड़े-बड़े किताबों को लिखने वालों से बड़े हैं जो कि हम गूगल में हिंदू को काबू में कैसे करें जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं।

हम से आपको लिंक में हिंदू धर्म से जुड़ी बड़ी-बड़ी त्योहारों के बारे में जान सकते हैं। और उन सभी के बारे में संक्षिप्त जानकारी इन सभी अलग-अलग लिख दिया गया है। जिस पर क्लिक करके आप हिंदू धर्म से जुड़ी सभी त्योहारों और साथ ही यहां सभी धर्मों से जुड़े परिवारों का संक्षिप्त लेख दिया गया है उस पर क्लिक करके आप उनके बारे में पूरी जानकारी हासिल कर सकते हैं।

दुर्गा पूजा क्या है, दुर्गा पूजा कैसे मनाए?

छठ पूजा क्या है और छठ पूजा कैसे मनाते हैं?

किसी दूसरे के धर्म के बारे में बुराई करना है या बुराई करने या काबू करने के बारे में किसी को सोचना तक भी नहीं चाहिए। क्योंकि हिंदू धर्म के लोग बड़े ही जाना और बड़े ही अच्छे स्वभाव के होते हैं जिन्हें काबू करना बेहद मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।

वह जल्दी किसी के बहकावे में नहीं आते हैं और ना ही गए आंख बनकर किसी पर भरोसा करते हैं ऐसे में हिंदू भाई को काबू करने के बारे में सोचना भी नहीं। क्योंकि हमारे आसपास जो सभी लोग रहते हैं वह सभी हमारे पड़ोसी और हमारे जिले और राज्यों में रहने वाले लोग हमारे भारत के रहने वाले सभी भाई-बहन होते हैं।

जिनके बारे में इस तरह की सोच रखना बेहद ही चिंताजनक का विषय बनता जा रहा है। और हम सभी को इन सभी सवालों को जैसे कि किसी को भी काबू में कैसे करें या किसी विशेष धर्म के लोगों को काबू करने की बात किया जाता है। उस तरह के सवाल जवाब का सर्च करने से हमें रुकना चाहिए।

ऐसा नहीं है कि भारत में रहने वाले लोग और भारत के नागरिक को हिंदू धर्म या किसी और धर्म के लोगों के प्रति लगाव नहीं है। सभी को सभी धर्मों के लोगों के प्रति लगाव और उनके आदर का सम्मान की जरूरत है। जिस तरह से हमारा मित्र होता है चाहे वह हिंदू हो, मुस्लिम हो, सिख हो या इसाई हो हम सभी मित्र को अपने खास त्यौहारों में एक दूसरे के साथ खेलते हैं और एक साथ घूमते हैं।

जिस तरह का बर्ताव आपने दूसरे धर्म के मानने वाले मित्रों को मानते हैं उसी तरह पूरे विश्व और पूरे भारत के लोगों के प्रति हमारी शर्मा होनी चाहिए तभी हमारा देश एक विकासशील देशों में बिना जाएगा।

भारत की तरक्की में योगदान सभी धर्मों का है और सभी धर्मों के लोग मिलकर भारत की रक्षा करते हैं और हमेशा करते रहेंगे। चंद लोगों की नफरत लोग मिलकर भारत की तरक्की को नहीं बता सकते हैं। क्योंकि हम भारत के रहने वाले दुनिया पर काबू करने की बात कहते हैं ना कि हम अपने भारत के लोगों पर ही काबू करने की बात करेंगे।

भारत में रहने वाले चाहे किसी भी धर्म के रहने वाले हो सब लोग का मकसद एक ही होना चाहिए कि हम दूसरों पर काबू करें दूसरे जो हमारे लिए हमारे देश के लिए खतरनाक हैं। उन पर काबू करें ना कि भारत में रहने वाले लोगों को ही काबू करने के बारे में सोचेंगे।

यह तो बात हो गई थी अपने पर खुद ही कुल्हाड़ी मारी। क्योंकि इस तरह की भाषा हम अपने भारत में रहने वाले भाई बहनों के साथ प्रयोग करते हैं जो कि विश्व में देखने वाले लोगों को हमारे प्रति इतनी ज्यादा प्रभावित करती है।

Hindu Ko Kabu Kaise Kare

अगर हम सभी को मिलकर भारत की सर्वश्रेष्ठ राष्ट्र की गुणवत्ता और भारत की सीमा को हमेशा बढ़ाना चाहिए। हमारी भारत माता को कभी किसी की आंख उठाने की हिम्मत ना हो और हमारे सैनिकों को अच्छे सुरक्षा मिलनी चाहिए।

इन सभी देशों को छोड़कर हम लोग पूरे इधर-उधर आलतू फालतू की बातें करने में लगे रहते हैं और अपने हित भारत के लोगों के प्रति हिंसा करते रहते हैं। आपको बता दें कि अभी भारत की जो स्थिति है वह पूरे विश्व में देखने की बात है।

हमारे भारत अभी जिस तरह से आगे बढ़ रही है उसकी तरक्की अगर इस तरह से बढ़ती रहे एक दिन हम जरूर विश्व के सबसे अच्छे नंबर पर रिंग करेंगे और विश्व में हमारी करेंसी और हमारे लोगों को ज्यादा इज्जत मिल सकेगी।

भारत की अर्थव्यवस्था धर्मों के आधार पर नहीं टिकी हुई है वह सभी धर्म के लोगों के प्रति इतनी ही इतने भारी है जो कि जितना कि हिंदू धर्म के लोगों के प्रति है। सभी लोगों को भारत को आगे बढ़ाने के लिए एक लक्ष्य लेकर चलना होगा और हम सभी को एक साथ मिलकर आगे बढ़ना होगा।

अगर बात किया जाए हिंदू धर्म के बारे में तो आपको बता दूं कि मुझे आपको हिंदू धर्म के बारे में ज्यादा जानकारी चाहिए तो नीचे दिए गए हिंदू धर्म में विकीपीडिया फेस पर जाकर  हिंदू धर्म के बारे में संक्षिप्त जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

यहां से आप लोगों को क्या सीख मिली है?

आज की इस ले लिया हमने Hindu Ko Kabu Kaise Kare, औकात में रहकर सर्च करें तथा हिंदू को काबू में कैसे करें से संबंधित पूरी जानकारी दीजिए। इस लेख को पढ़कर आपको यह जानकारी हो जाएगी कि हमें किसी धर्म को काबू करने के बारे में सोचना चाहिए या नहीं सोचना चाहिए।

हमारे लिखे गए इस लेख में किसी शब्द से किसी तरह की किसी को कोई दिक्कत है तो कृपया हमें अपडेट करें हम जल्द ही उसे सुधारने की कोशिश करेंगे। साथ ही आपको यह भी बता दें कि इस लेख में किसी प्रकार की किसी भी समुदाय के लोगों के प्रति नफरत में किसी और तरह के भी बातों को नहीं बताया क्या है।

हमें उम्मीद है कि हमारी लिखी गई इस पोस्ट को आप को बहुत कुछ जानकारी लेना होगा साथ ही अगर हमारी यह पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो कृपया अपने दोस्तों के साथ अपने सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर शेयर करें। 

हिंदू को काबू में कैसे करें?

हिंदू धर्म के मानने वाले लोगों को काबू करने के बारे में सोचना भी मत। क्योंकि इतनी कमजोर नहीं होते हैं जो किसी के काबू में आ जाए। और कोई भी इसे काबू करने के बारे में सोचने की हिम्मत ही ना करें।

हिंदू धर्म क्या है?

हिंदू धर्म संस्कृति से जुड़े और सनातन धर्म के नाम से जाने वाला एक धर्म है जो कि विश्व के सबसे पहली इसकी उत्पत्ति हुई है। ऐसा माना जाता है कि विश्व में सबसे पुराना धर्म हिंदू धर्म है जो कि आज तक वैसे ही चली आ रही है।

हिंदू धर्म विशेष कौन-कौन से त्योहार मनाए जाते हैं?

उसे तो हिंदू धर्म में बहुत सारे त्यौहार है जिसे पूरी मान्यता घुटनों से मनाया जाता है, लेकिन इन सभी धर्मों में सबसे बड़ी दुर्गा पूजा, काली पूजा, रामनवमी, जन्माष्टमी, होली और दिवाली होती है।

हिंदू धर्म की पवित्र  किताबें में कौन-कौन सी है?

हिंदू धर्म में कई प्रकार की किताबें धार्मिक और पवित्र ग्रंथ के रूप में मानी जाती है जैसे कि गीत, हनुमान चालीसा और कई प्रकार की वेद शामिल है।

Hi, मैं Rahul मेहर टेक साइट पर आपका स्वागत करता हूँ। मैं अभी BCA कर रहा हूँ, मुझे Computer, Blogging और Technology में बहुत Interest है। मुझे सीखना और सिखाना बहुत पसंद है।

Leave a Comment