GST क्या है और जीएसटी का Full Form क्या होता है?

GST क्या है: आप सभी का स्वागत है आपके अपने साइट मेहर टेक हिंदी पर. आज की इस पोस्ट में आपको GST क्या है और जीएसटी का फुल फॉर्म क्या होता है के बारे में पूरी जानकारी मिलने वाली है . इये आज हम जीएसटी के बारे में कुछ जानकारियों को हासिल करते है. क्योंकि हमारे देश मे अब GST लागू हो चुकी है.

GST क्या है

इसलिए हमें जीएसटी को विस्तार से समझने का प्रयास करना चाहिए. आपको बता दे कि जीएसटी अब पूरी तरह से लागू कर दिया गया है. हम सभी लोग कुछ न कुछ यो खरीदकर तो हमेशा use करते ही है. क्योंकि खरीदना तो होगा ही ऐसा तो नही है सभी चीजें हमारे पास ही बनती है. आज हम सभी चीजो को खरीद कर ही अपना काम चलाना होता है. क्या आपको पहले से पता था की जीएसटी क्या है.

GST क्या है और जीएसटी का फुल फॉर्म क्या होता है

कुछ ऐसे चीज होती होगी जिसे खरीदना नही होता है. लेकिन हम जितने समान खरीदते है उन सभी पर हमें कुछ न कुछ सरकार को टैक्स के रूप में देना होता है. अज आपको GST क्या है के बारे फुल इनफार्मेशन दिया जायेगा.

ऐसा नही है कि सरकार सिर्फ एक ही चीज पर टैक्स लेती है आप जितने भी चीज इस्तेमाल करते है. छोटा सा चॉकलेट या सुई से लेकर खाने-पीने और सभी प्रकार की सामानों पर बहुत ही ज्यादा टैक्स सरकार जोड़ती है.

आप हम कहते है कि सामान कितनी मंहगी होती जा रही है लेकिन हमको ये नही पता होता है कि हम उस सामान पर सरकार को कितना Tax Pay करते है. आइये अब हम इन्ही बातों पर विस्तार से चर्चा करते है.

सरकार टैक्स क्यों लेती है? 

भारत मे रहने और यहाँ के सेवाओ का लाभ लेने के लिए सरकार की तरफ से टैक्स का प्रावधान किया गया है. क्योंकि जब हम अपनी इस्तेमाल करने वाली सामानों पर सरकार को टैक्स देते है. तो सरकार उन पैसों को हमारे देश को Development कार्य करने करते है.

आपको बता दु की हमको घर और जमीन में रहने से लेकर रोड और जितनी समान हम इस्तेमाल करते है सभी पर सरकार हमसे टैक्स लेती है. आइये हम इसे और आसान से समझते है.

भारत में Tax कितने प्रकार के होते है?

इंडिया में दो प्रकार के टैक्स देने होते है पहली है Direct Tex और दूसरा है Indirect Tax होता है. आइये अब जानते है ये दोनों टैक्स क्या होता है.

Direct Tax: वैसे tax जो हम खुद ही देते है. जिस टैक्स को हम अपने हाथों से सरकार को देते है डायरेक्ट टैक्स कहलाता है. जैसे कि Income Tax, Property Tax, Corporate Tax, etx.

Indirect Tax: वैसा टैक्स जो हम अपनी हाथों से नही बल्कि किसी अन्य थर्ड पार्टी के द्वारा टैक्स हमसे लिया जाता है वो Indirect tax कहलाता है. इसका example या है कि जब हम किसी वस्तु, समान और सजावट या दवाई को इस्तेमाल करते है उसे खरीदते है तो हमसें उसपर जो टैक्स लगती है इनडाइरेक्ट टैक्स का उदाहरण है. जैसे Sale Tax, Service tax, entertainment tax, value added tax, custom duty tax, etc.

जीएसटी के पहले की tax system कैसा था

जैसा कि हमने अभी टैक्स के दोनों प्रकार के बारे में जाना है आपको बता दे कि Direct Tax तो सिंपल है आपका जितना होता है आप डायरेक्ट सरकार को pay कर सकते है. क्योंकि Direct Tax के अंदर ज्यादा चीजे नही आती है.

लेकिन Indirect tax में बहुत सारी सामान जो हम उपयोग में लाते है वो सभी इनडाइरेक्ट टैक्स में आने के कारण इसमें टैक्स जोड़ना और मैनेज करने बहुत ज्यादा हार्ड था. क्योंकि जीएसटी से पहले की टैक्स सिस्टम में सभी सामानों पर अलग-अलग प्रकार के टैक्स होते होते.

बता दे कि सभी सामानों पर पहले लगभग 20 प्रकार के टैक्स लगता था. क्योंकि ये बहुत ज्यादा प्रकार के टैक्स हो जाता था यही कारण से हिसाब रखना थोड़ा जटिल काम होता था.

लेकिन इस जटिल टैक्स को मैनेज करने के लिए जीएसटी को लागू किया गया था. अब हम जानते है कि GST Ka Full Form क्या होता है और GST tax system कैसे कार्य करता है. अब तक आपको पता चल गया होगा की जीएसटी क्या है.

GST Ka Full Form क्या होता है?

आप सभी को बता दु की जीएसटी का फुल फॉर्म “Goods and Services Tax” होता है साथ ही जीएसटी का full form in Hindi में “वास्तु एवं सेवा कर” होता है.

GST को कब लागू किया गया था?

GST को 1 जुलाई 2017 को नरेंद्र मोदी के द्वारा लगाया गया था.

GST सबसे पहले कहाँ लागू किया गया था?

GST को सबसे पहले असम और जम्मू-कश्मीर में लागू किया गया था.

GST क्या है?

जब हम पहले टैक्स को सरकार को देते थे उस टैक्स सिस्टम को मैनेज करने और आम आदमी को समझना बहुत मुश्किल था. इसलिए अब नया tax system लाया गया है जिसके नाम जीएसटी है. जीएसटी का टैगलाइन One Nation One Tax है.

जीएसटी के अंदर Direct Tax Category में किसी भी प्रकार की कोई बदलाव नही होगा. जीएसटी के अंदर Indirect Tax को सभी 20 प्रकार के टैक्स को अब एक टैक्स बनाया गया है. अब सभी चीजों के लिए एक ही टैक्स बनाया गया है. Tax को मैनेज करने में भी आसानी होती है. आइये अब जीएसटी को समझते है.

GST टैक्स भी तीन प्रकार का टैक्स लेती है. हम देते तो है एक बार मे लेकिन आगे इनको तीन भागों में बांटकर पहुँचाया जाता है.

CGST क्या है?

यदि हम किसी प्रकार की कोई बिजनेस कर रहे है तो हमें तो टैक्स देना होता है वो दोनों जगहों में देना होता है. आपको बता दे कि CGST के अंदर हमें Central Government को tax देना होता है. अतः हम कह सकते है कि CGST में केंद्र सरकार को टैक्स देना होता है.

SGST क्या है?

इस प्रकार के जीएसटी के अंदर राज्य सरकार को टैक्स दिया जाता है. State Government के पास जाने वाली tax को CGST कहते है.

IGST क्या है?

ये वो टैक्स है जो कोई अपने राज्य से बाहर बिसनेस मरता है उसे ये टैक्स देना होता है. इसमें राज्य सरकार और केंद सरकार को आधा-आधा दिया जाता है. मान के चलिए हम अपने राज्य से बाहर कोई बिजनेस करते है तो हमे IGST और SGST देना होगा. आइये अब जानते है कि GST के अंदर कौन से सामान पर कितना %GST लगता है.

GST के अंदर कितने वस्तुओं की को tax में शामिल किया गया है?

जीएसटी अंदर हमारे देश के लगभग 12,000 वस्तुओं पर tax लगता है. अब किसी समान पर कितना टैक्स लगेगा इसको भी 5 भागों में बाटा गया है. आइये अब जानते है किसी समान पर कितना  % जीएसटी लगता है.

  • 0% केटेगरी: इस केटेगरी के अंदर उस समान को लिया गया है जो प्रतिदिन हमें Use करना होता है. और जो खुले मार्केट में मिलता है. जैसे कि अंडा, फल, सब्जियां, नमक, ब्रेड, शहद, etc.
  • 5% GST Category: इस प्रकार की कैटेगरी में वैसे फ़ूड शामिल होते है जो खुले नही मिलते है. जिनको packed करके बेचा जाता है. उसमें 5% का GST टैक्स लगता है. जैसे कि Tea, Coffee, Paneer, Sabudana etc.
  • 12% Category: इस प्रकार के कैटेगिरी ने Fruit Juice, नमकीन, आयुवैदिक दवाएं, आइस क्रीम, मोबाइल, मक्खन और सभी प्रकार के ड्राई फ़ूड जो पैकिंग में मिलता है.
  • 18% GST Cetegory: इस केटेगरी के अंदर मिनिरल वाटर, सुप, आइस क्रीम, कैमरा, केक, etc. आती है.
  • 28% GST Cetegory: इस केटेगरी के अंदर में शैम्पू, शेविंग क्रीम, पेंट, वाटर हीटर, वाशिंग मशीन, etc. इसमें आता है.

Sarkari Naukri की जानकारी कैसे पता करें?
AIIMS क्या है और AIIMS की तैयारी कैसे करें? 
ITI क्या है और हम आईटीआई में जॉब कैसे ले सकते है
NEET क्या है और नीट की तैयारी कैसे करें? 
CID और CBI में क्या अंतर है? 
CBSE और ICSE में कौन सा बोर्ड है सबसे बेहतर 
10th और 12th का Online Result कैसे देखे?  

साथ ही कुछ चीजो को जीएसटी के बाहर भी रखा गया है. मतलब की उन चीजो पर जीएसटी नही लगेगा. आइये जानते किन चीजों पर जीएसटी नही लगता है. जैसे कि अल्कोहल, क्रूड ऑयल, डीजल, पैट्रोल etc. को बाहर रखा गया है.

Your Opinion

इस article में आपको जीएसटी (GST) से संबंधित सभी जानकारी दिया गया है जैसे कि जीएसटी क्या है और जीएसटी का फुल फॉर्म क्या होता है, जीएसटी क्या है, GST tax system कैसे काम करता है और GST कितने प्रकार के होते है. अगर अभी भी आपके मन में कोई सवाल है GST से संबंधित तो जरूर बताये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here