डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें संपूर्ण जानकारी

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे : क्या आप जानते हैं कि ग्रेजुएशन करने के लिए आजकल कौन कौन से कॉलेज और यूनिवर्सिटी रेगुलर और डिस्टेंस लर्निंग के जरिए ग्रेजुएशन पूरा करवाती है। क्योंकि आज की इस लेख में हम लोग जानेंगे कि डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें, ग्रेजुएशन क्या है, Distance Learning Se Graduation Kaise Kare, डिस्टेंस लर्निंग क्या है, डिस्टेंस लर्निंग के फायदे, डिस्टेंस लर्निंग के नुकसान, Advantage of Distance Learning, Disadvantage of Distance Learning के बारे में

अगर आपके पास भी समय की बहुत ज्यादा किल्लत है तो आप इस आर्टिकल को पूरा पड़ी जिसमें आपको डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के बारे में पूर्ण जानकारी दिया जाएगा। साथ ही अगर आपने रेगुलर से 12वीं पास किए हैं तो आपको कौन-कौन से डिस्टेंस लर्निंग कोर्स व कॉलेज में नामांकन मिल सकती है।

क्या आप भी समय और पैसे की कमी के कारण रिजर्वेशन नहीं कर पा रहे हैं। आपके लिए डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन बहुत ज्यादा फायदेमंद हो सकते हैं। जैसा कि हम सभी को पता होगा कि हमने बचपन से बारहवीं तक रेगुलर माध्यम से पढ़ाई की है। लेकिन आगे की पढ़ाई के लिए कॉलेज या यूनिवर्सिटी की बहुत ज्यादा फीस होने के कारण बहुत सारे लड़के कॉलेज ड्रॉपआउट हो जाते हैं।

वैसे लड़के जो परिवार की आर्थिक स्थिति के कारण रेगुलर सिंह रिजर्वेशन नहीं कर सकते हैं। वैसे लड़कों के लिए सरकार की तरफ से ओपन यूनिवर्सिटी बनाई गई है जहां बहुत सारे कोर्स होते हैं। इन Open University में रेगुलर College जाने की जरूरत भी नहीं होती तथा अन्य कॉलेज और यूनिवर्सिटी के मुकाबले इनकी फीस भी कम होती है।

इसीलिए आज की “डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें” इसलिए इसमें हम लोग डिस्टेंस रिजर्वेशन के बारे में पूर्ण जानकारी इकट्ठा करने वाले हैं। क्योंकि भारत में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जिसकी आरती की स्थिति बहुत ज्यादा अच्छी नहीं है और उन्हें पढ़ाई करने का शौक है तो अभी ओपन यूनिवर्सिटी से डिस्टेंस लर्निंग प्रोग्राम के तहत अपनी रिजर्वेशन पूरा कर सकते हैं।

विषय सूची

डिस्टेंस लर्निंग क्या है? | What is Distance Learning

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें
Distance Learning Se Graduation Kaise Kare

Distance Education कहां है ऐसा प्रोग्राम जो भारत के बहुत सारे विश्वविद्यालयों में ओपन यूनिवर्सिटी के द्वारा बहुत सारे डिस्टेंस कोर्स कराए जाते हैं। डिस्टेंस लर्निंग का मतलब यह है कि आप किसी भी जॉब या किसी भी काम को करते करते पढ़ाई करना होता है।

उदाहरण के लिए हम मान लेते हैं कि आपकी घर की आर्थिक स्थिति या तो किसी कारण बस आपको ज्यादा टाइम नहीं मिल पाता है पढ़ाई करने के लिए। यदि आप इस समस्या के साथ पढ़ाई आगे जारी रखना चाहते हैं तो आप डिस्टेंस शिक्षा प्रोग्राम को चुन सकते हैं।

Distance Education के तहत पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को रेगुलर की तरह रोजाना क्लास नहीं करना पड़ता है। साथ ही आपको यह भी बता दें कि डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने पर आपको बहुत सारे किताब दिया जाता है। फिर उसके बाद आप जब अपने काम से कुछ समय निकालकर पढ़ाई करेंगे और फिर आपको समय समय पर परीक्षा लिया जाएगा।

इससे छात्र-छात्राओं को यह फायदा होता है कि वह अपने काम के साथ-साथ अपना ग्रेजुएशन भी डिस्टेंस लर्निंग के जरिए अपना ग्रेजुएशन पूरा कर सकते हैं। फिर उसके बाद आप आगे की पढ़ाई के लिए या किसी दूसरी जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं क्योंकि अब आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री हो जाती है।

Distance Learning के तहत पढ़ाई करने वाले छात्र छात्राओं को सिर्फ परीक्षा के समय ही कॉलेज या यूनिवर्सिटी बुलाया जाता है। साथ ही आपको यह भी बता दें कि आपकी एग्जाम हमेशा छुट्टी के दिनों में ही लिया जाएगा जैसे कि रविवार इत्यादि।

आजकल बहुत सारे कॉलेज और यूनिवर्सिटी डिस्टेंस लर्निंग को बढ़ावा दे रहा है। और साथ में छात्र-छात्राएं भी इस शिक्षा व्यवस्था का फायदा उठा रहे हैं। डिस्टेंस लर्निंग उन छात्रों के लिए सुनहरा मौका देती है जो पहले से किसी पद पर कार्यरत है।

साथ ही डिस्टेंस लर्निंग प्रोग्राम होने युवाओं के लिए सुनहरा मौका है इनके पास पैसे की कमी या समय की कमी होती है। क्योंकि डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन करने के लिए आपको किसी भी तरह की कॉलेज रेगुलर नहीं जाना होता है। साथ ही आपको यह भी बता दें कि डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन करने के लिए आपको ज्यादा फीस भी चार्ज नहीं किया जाता है।

डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन कैसे करें? संपूर्ण जानकारी

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करना बेहद ही आसान है। महज हम लोग कुछ ही सेकंड में आज के इस लेख में मरो डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए सभी प्रकार की कार्य के बारे में जाने वाले हैं।

ग्रेजुएशन एक प्रकार का डिग्री लेवल कोर्स है जिसे करने के बाद छात्र छात्राओं के जीवन में बहुत सारी अवसर खुल जाती हैं। और ग्रेजुएशन करने के बाद ही हम लोग पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए एडमिशन करा सकते हैं।

Advantage of Distance Learning

जिस कारण से आज हम लोग 12वीं के बाद ग्रेजुएशन करने के बारे में जरूर सोचते हैं। क्योंकि लोगों की जिंदगी में सबसे पहली डिग्री होती है स्नातक ग्रेजुएशन होती है। इसलिए कि मैं आज हम लोग यह तो जानेंगे कि ग्रेजुएशन कैसे करें साथ ही हम लोग इसीलिए हमें यह भी जानेंगे कि डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे कर सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी कॉलेज विजिट करनी होती है। फिर उसके बाद उन कॉलेज या यूनिवर्सिटी में पता लगाया जाता है कि वहां पर डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन की फैसिलिटी उपलब्ध है या नहीं।

जहां आप जिस कॉलेज में जाएंगे डिस्टेंस लर्निंग रिजर्वेशन के बारे में पता करने के लिए फुलस्टॉप वहां आप किसी टीचर या प्रिंसिपल से डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के साथ-साथ उसके नामांकन की तिथि के बारे में अवश्य पूछ ले। क्योंकि जैसे ही अन्य कॉलेजों में या अन्य यूनिवर्सिटी जो की रेगुलर होती है उसी तरह डिस्टेंस लर्निंग कोर्स के लिए भी नामांकन कराना बेहद जरूरी होता है।

आप अपने नजदीकी डिस्टेंस लर्निंग फैसिलिटी उपलब्ध कराने वाली कॉलेज में जाएं या नजदीकी डिस्टेंस लर्निंग फैसिलिटी उपलब्ध कराने वाली यूनिवर्सिटी में जाएं। वहां आप डिस्टेंस लर्निंग के बारे में जानकारी हासिल करें और उनसे नामांकन करने को कहें। ऐसे ही आप उस कॉलेज में नामांकन के लिए कहेंगे तो कॉलेज के शिक्षक आपको खुद ही बताएंगे कि डिस्टेंस लर्निंग में साल के किस किस महीने में नामांकन किया जाता है।

हालांकि सभी कॉलेजों के साथ-साथ डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन का भी नामांकन किया जाता है। आपको बता दें कि डिस्टेंस लर्निंग एजुकेशन साल में दो बार नामांकन किया जाता है। इसमें भी ग्रेजुएशन की पढ़ाई सेमेस्टर फर्स्ट सेमेस्टर 6 सेमेस्टर तक पढ़ाई जाती है उसके बाद फाइनल में आपको फाइनल रिजल्ट दे दिया जाता है।

आप अपने नजदीकी किसी भी डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने वाली हीरो सिटी है या कॉलेज में नामांकन करा सकते हैं। फिर उसके बाद आप अपनी पढ़ाई ऑनलाइन माध्यम से यूट्यूब और वेबसाइट के जरिए कर सकते हैं। आपको बता देगी कुछ यूनिवर्सिटी डिस्टेंस लर्निंग मैं पढ़ाई करने वाले छात्र छात्राओं को पोस्ट ऑफिस के द्वारा उनके घर पढ़ाई के लिए बहुत सारी किताबें भेजा जाता है।

आप उनके दावों को या ऑनलाइन यूट्यूब वेबसाइट के जरिए पढ़ाई कर सकते हैं और बस अपनी परीक्षा के समय जाकर अपनी कॉलेज में परीक्षा देकर आप सफलतापूर्वक डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कर सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग के जरिए कौन-कौन से कोर्स कर सकते हैं?

आज भारत समेत पूरे विश्व में डिस्टेंस लर्निंग को बढ़ावा दिया जा रहा है। आपको बता दें कि डिस्टेंस लर्निंग में दर्शन करने के लिए आपको सही प्रकार की कोर्स करवाया जाता है।

जैसे कि यदि आप अपने 12वीं के बाद आर्ट्स के साथ जाकर b.a. करना चाहते हैं तो आप डिस्टेंस लर्निंग से बीए ग्रेजुएशन पूरी कर सकते हैं। यदि आप चाहती हैं कि हम 12वीं के बाद डिस्टेंस लर्निंग से साइंस के फील्ड में बीएससी करें तो आप इसके लिए स्वतंत्र हैं।

यदि आप चाहते हैं कि हम ओपन यूनिवर्सिटी से मतलब की डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कॉमर्स के फिल्में करें तो आप बीकॉम की पढ़ाई भी डिस्टेंस लर्निंग से कर सकते हैं। साथ ही अगर आप चाहते हैं कि आप 12वीं के बाद अपनी आगे की पढ़ाई कंप्यूटर Field से करें तो आप अपनी 12वीं के बाद ओपन यूनिवर्सिटी से बीसीए या बीकॉम भी कर सकते हैं।

आइए अब हम ओपन यूनिवर्सिटी के जरिए ग्रेजुएशन करने के लिए कौन-कौन से कोर्स उपलब्ध है इनके बारे में सिलसिलेवार तरीके से निम्नलिखित तरीकों से बताया जाएगा। नीचे आप इस लिस्ट में ओपन यूनिवर्सिटी डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के पॉपुलर कोर्स के बारे में बताया जा रहा है। आप अपनी मनपसंद की कोर्स अब डिस्टेंस लर्निंग से कर सकते हैं और बहुत सारे लोग कर कर जॉब भी कर रहे हैं।

बैचलर ऑफ आर्ट्स
बैचलर ऑफ साइंस
बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन
बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी
बैचलर ऑफ कॉमर्स
बैचलर ऑफ फार्मा
बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन
बैचलर ऑफ एजुकेशन
बिजनेस मैनेजमेंट स्टडीज

डिस्टेंस लर्निंग शिक्षा के टॉप 10 यूनिवर्सिटी कॉलेज

भारत में अगर सबसे ज्यादा पॉपुलर और बेस्ट डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए सबसे पॉपुलर इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (IGNOU) को माना जाता है। क्योंकि भारत समेत पूरी दुनिया में ऑनलाइन पढ़ाई और डिस्टेंस लर्निंग एजुकेशन को सरकार समेत पूरी यूजीसी शिक्षा व्यवस्था को बढ़ावा देने का काम कर रही है।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें कि इस लेख में अभी हम आप लोगों को निम्नलिखित तरीकों से भारत के सबसे जानी-मानी डिस्टेंस लर्निंग यूनिवर्सिटी के बारे में बताने वाले हैं। आप अगर चाहे तो इन यूनिवर्सिटी में से किसी भी यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेकर पढ़ाई कर सकते हैं जो भी यूनिवर्सिटी आपके घर के नजदीक हो।

Disadvantage of Distance Learning

वैसे अगर देखा जाए तो भारत के सबसे बड़े ओपन विश्वविद्यालय में सबसे बड़ा नाम इग्नू कहता है क्योंकि इग्नू पूरे भारत में सबसे ज्यादा डिस्टेंस लर्निंग कोर्स और कक्षाएं करवाती है। इग्नू की शाखाएं आज बहुत सारे कॉलेज और यूनिवर्सिटी में दिया गया है जिससे एक सेंटर कोड कहां जाता है और उस कोर्ट को हैंडल करने वाली बड़ी सेंटर को स्टडी सेंटर कहा जाता है। इग्नू के स्टडी सेंटर एक छोटी सी शाखा होती है और जो गुस्सा खा को मैनेज करती है उन्हें रीजनल सेंटर कहा जाता है इग्नू विश्वविद्यालय में।

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (IGNOU)
मद्रास यूनिवर्सिटी
दिल्ली यूनिवर्सिटी
सिंबायोसिस सेंटर ऑफ डिस्टेंस लर्निंग
आईएमटी डिस्टेंस एंड ओपन लर्निंग इंस्टीट्यूट
सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी
डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ओपन यूनिवर्सिटी
नेताजी सुभाष ओपन यूनिवर्सिटी

डिस्टेंस लर्निंग के फायदे

आइए आप हम लोग ओपन यूनिवर्सिटी मतलब की डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के बारे में और उनके फायदे के बारे में निम्नलिखित तरीकों से जानते हैं –

  • डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने वाले छात्र-छात्राओं को रेगुलर की तरह कॉलेज नहीं जाना पड़ता है।
  • डिस्टेंस लर्निंग की कक्षाएं साल में या तो आधा साल में 10 से 15 दिन होती है जो कि छुट्टी के समय में कक्षाएं कराई जाती है।
  • डिस्टेंस लर्निंग के नामांकन तथा कॉलेज से संबंधित किसी भी कार्य को आप छुट्टी के दिन मतलब की है रविवार को भी किया जा सकता है।
  • रेगुलर के मुकाबले डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के लिए बहुत कम फीस लगती है।
  • डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन अपनी जॉब करते करते कर सकते हैं।
  • डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने के उम्र सीमा और सीमित नहीं होती है आप चाहे कितना बड़ा हो आप डिस्टेंस लर्निंग के जरिए अपनी पढ़ाई को जारी रख सकते हैं।

डिस्टेंस लर्निंग के नुकसान

डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन करने की इसलिए इसमें हम लोग आगे जाने वाले हैं कि डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करने से हमें इस प्रकार के नुकसान देखने को मिल सकता है। आपको नीचे निम्नलिखित तरीकों से बताया गया है कि या डिस्टेंस लर्निंग रिजर्वेशन से आपको क्या नुकसान हो सकते हैं।

  • डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन करते हैं तो आपको रेगुलर ग्रेजुएशन करने के मुकाबले कम जानकारी मिलेगी।
  • यदि डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कर रहे हैं तो आपको रेगुलर क्लास नहीं लिया जाएगा।
  • किसी किसी को सुनें डिस्टेंस मैं भी ज्यादा की फीस डिमांड किया जा सकता है। जैसे इग्नू की बीसीए की कोर्स है।
  • टीचर से मुलाकात ना होने के कारण बहुत सारे नामांकन हो रजिस्ट्रेशन की तिथि को पता करने के लिए थोड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।

डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन में पढ़ाई कैसे करें

ग्रेजुएशन एक प्रकार का बैचलर डिग्री कोर्स है जो मुख्यता 12वीं के बाद किया जाता है। ग्रेजुएशन को हिंदी में स्नातक कहा जाता है और सना तक पहली डिग्री कोर्स है इसे करने के बाद आप एक ग्रेजुएट बन जाओगे। क्योंकि ग्रेजुएशन करने के बाद ही आप पोस्ट ग्रेजुएशन और हायर एजुकेशन के लिए प्रिपेयर हो सकते हैं और एलिजिबल भी हो सकते हैं।

ग्रेजुएशन का कोर्स मुख्यतः 3 से 5 साल तक का होता है जिसमें आप उन्हीं समय सीमा के अंदर अपनी कोर्स को पूरा करने होते हैं।

यदि आपको भी सरकार की सभी और तरह-तरह के नौकरियों में आवेदन करने के लिए योग्यता पूर्ण होना है तो आपको ग्रेजुएशन करना बहुत जरूरी है। क्योंकि ग्रेजुएशन आजकल सभी सरकार की विभिन्न नौकरियों में मांगा जाता है।

आजकल एक छोटी सी जॉब के लिए भी स्नातक की डिग्री मांगा जाता है और उसमें भी आपके मार्क्स 60 परसेंट से ज्यादा होना चाहिए। तभी आप किसी भी सरकारी नौकरियों तथा सरकारी फॉर्म के लिए माननीय होंगे।

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें?

डिस्टेंस लर्निंग रिजर्वेशन में नामांकन करने के लिए दस्तावेज

डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन में ऑनलाइन तैयारी कैसे करें?

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन में नामांकन कैसे करें?

डिस्टेंस लर्निंग के अंतरराष्ट्रीय कॉलेज यूनिवर्सिटी

आइए अब हम लोग पूरे विश्व में सबसे ज्यादा पॉपुलर डिस्टेंस लर्निंग यूनिवर्सिटी के बारे में जानते हैं। नीचे आपको निम्नलिखित तरीकों से विश्व के सबसे प्रमुख ओपन यूनिवर्सिटी के सभी बेस्ट यूनिवर्सिटी के नाम सुझाए गए हैं –

यूनिवर्सिटी ऑफ लिवर पुल
दा यूनिवर्सिटी आफ मैनचेस्टर
बोस्टन यूनिवर्सिटी डिस्टेंस एजुकेशन
इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी
सिंबायोसिस सेंटर ऑफ डिस्टेंस लर्निंग
यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा डिस्टेंस लर्निंग
मेसी यूनिवर्सिटी डिस्टेंस लर्निंग न्यूजीलैंड
यूनिवर्सिटी आफ साउदर्न क्वींसलैंड
चार्ल्स स्टर्ट यूनिवर्सिटी
यूनिवर्सिटी आफ प्रीटोरिया यूनिट ऑफ डिस्टेंस एजुकेशन

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें का निष्कर्ष

आज की इस पोस्ट में हम लोगों ने डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें संपूर्ण जानकारी के बारे में जानकारी प्राप्त किए हैं। साथ ही हम लोगों ने ग्रेजुएशन क्या है, डिस्टेंस लर्निंग क्या है, Distance Learning Se Graduation Kaise Kare, ग्रेजुएशन की पढ़ाई कैसे करें इत्यादि के बारे में पूरी जानकारी दिया गया।

हमें उम्मीद है कि हमारी तरफ से लिखा गया यह लेख आप लोगों को बहुत पसंद आया होगा और आपकी डिस्टेंस लर्निंग कोर्स में आपको मदद भी किया होगा। यदि डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन से संबंधित किसी भी प्रकार की प्रश्न है तो कृपया नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें।

FAQ डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें
  • ओपन यूनिवर्सिटी क्या है?

    स्वतंत्र रूप से पढ़ाई करवाने वाले तथा बिना रेगुलर क्लास किए जाने वाले पढ़ाई को ओपन यूनिवर्सिटी कहां जाता है।

  • डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन क्या है?

    डिस्टेंस लर्निंग ग्रेजुएशन एक प्रकार का डिस्टेंस लर्निंग प्रोग्राम है। इस प्रोग्राम के तहत बिना किसी उम्र सीमा तथा कोई भी जॉब करते हुए इस कोर्स कर सकता है।

  • ग्रेजुएशन क्या है?

    ग्रेजुएशन 1 डिग्री कोर्स है जो 12वीं के बाद किया जाता है। ग्रेजुएशन एक बैचलर कोर्स भी है इसे हिंदी में स्नातक कहा जाता है।

  • दूरस्थ शिक्षा की व्यवस्था कब से शुरू हुई थी?

    दूरस्थ शिक्षा की व्यवस्था सबसे पहले डॉक्टर भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी ने शुरू किया था।

  • गैप के बाद ग्रेजुएशन कैसे पूरा करें?

    गैप के बाद फिर से आप रीरजिस्ट्रेशन करा कर अपनी क्रिसमस एंड डिग्री को पूरा कर सकते हैं।

  • डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कितने साल की होती है?

    डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन 3 से 5 साल तक की हो सकती है यह यूनिवर्सिटी के नियम के मुताबिक होता है।

Share on:

Hi, मैं Rahul मेहर टेक साइट पर आपका स्वागत करता हूँ। मैं अभी BCA कर रहा हूँ, मुझे Computer, Blogging और Technology में बहुत Interest है। मुझे सीखना और सिखाना बहुत पसंद है।

Leave a Comment