Computer क्या है और कंप्यूटर का जनक किसे कहा जाता है

क्या आपको पता है Computer क्या है और कंप्यूटर का जनक किसे कहा जाता है, तो आज हम बात करेंगे कि Computer क्या है? और इसका प्रयोग कैसे किया जाता है. आज हम इस बात को भी सीखेंगे की Computer की Full Form क्या होता है तथा कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है, कंप्यूटर का प्रकार, जनरेशन की पूरी जानकारी.

Computer क्या है computer

Computer क्या है?

कंप्यूटर से आप तो बहुत अच्छी तरह से वाकिब होंगे क्योंकि आज हर काम को करने के लिए Computer जरूरी होता है आजकल की कामों को करने के लिए लोग Computer पर सबसे ज्यादा आश्रित होते है. कंप्यूटर को हिंदी में संगणक कहा जाता है.

पिछले 20 सालों में Computer बहुत ज्यादा रफ्तार से बढ़ा है क्योंकि आज लोगो को Smart Work पसंद है और सबसे ज्यादा smart work एक कंप्यूटर ही कर सकता है.

अगर देखा जाए तो आज हर सेक्टर में कंप्यूटर की जरूर बढ़ गयी है चाहे Business के सेक्टर हो, या Education (शिक्षा) के सेक्टर में हो या इंजीनिरिंग हो या कल-कारखानों में कोई काम हो सभी काम कंप्यूटर लेने लगा है.

Computer क्या है:

Computer एक Electromechanical (एलेक्ट्रोमेकनिकल) मशीन है. जो Data को Inpute के रूप में लेता है फिर Process करता है, और Result के रूप में Output देता है.

Computer का निर्माण किसने किया था:

Computer का निर्माण में बहुत सारी वैज्ञानिकों का परिश्रम का नतीजा लेकिन जिसका सबसे ज्यादा योगदान रहा है उसका नाम “Charles Babbage” का है, इसलिए इसे कंप्यूटर का जनक भी कहा जाता है.

Computer एक ऐसा device है जो मनुष्यों के कामो को आसान तथा accurate बनाता है, दोस्तो कंप्यूटर एक मशीन में जो हमारी कामो को बेहतर करने के लिए उपयोग में लाया जाता है.

इसका मतलब हम इसी बात से लगा सकते है आप और हम जैसे कि जिसपर पर में ये Article Write कर रहे है वो भी एक कंप्यूटर है, और आप अभी जिस से इसे रीड कर रहे है PC या Mobile एक कंप्यूटर है.

आज जो हम इस्तेमाल करते है कंप्यूटर के रूप में वो वैज्ञानिकों ने बहुत ही ज्यादा मेहनत करके बनाया है कंप्यूटर बनाने में न जाने कितना साल लगा होगा, और न जाने कितनी बार असफलता मिली होगी.

कंप्यूटर एक है लेकिन कम अनेक करता है इसी कारण से नाम कंप्यूटर दिया गया जिसका मतलब होता है ऐसा यंत्र जो सभी कामों को करने में सक्षम होता है, नीचे आपको Computer की full form भी दिया गया है.

दोस्तो अगर बात कंप्यूटर की किया जाए है अभी की Multi Model दुनिया मे बिना कंप्यूटर की कुछ भी मुमकिन नही है, चाहे वह छोटा काम हो या बड़ा काम सभी कामो को करने के लिए कंप्यूटर की जरूरत पड़ती है.

शिक्षा के Field में कंप्यूटर का प्रयोग

जैसे जैसे कंप्यूटर की मांग बढ़ रहा है कंप्यूटर की पढ़ाई करने वाले छात्रों की संख्या में भी व्रद्धि हो रही है, क्योंकि जब Job कंप्यूटर पर ही करना है तो Computer Operater तो चाहिए ही. आप भी Computer की पढ़ाई चालू कर सकते है इसकी कोई उम्र नही होती है, और न ही पढ़ने और सीखने की कोई उम्र होती है जबकि आप अभी से भी Computer Basic Knowledge ले सकते है, और Computer Use कर सकते है.

कंप्यूटर की बेस्ट कोर्स – Best Course of Computer

Computer की Field में जाना चाहते है तो आपके लिए आज की नई वर्ल्ड में आपका स्वागत है, दोस्तो जैसा कि आप सभी को पता होगा कि कंप्यूटर की कोर्स करने के बाद आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) बन सकते है.

Software Engineer बनने के लिए आजकल बहुत ही अच्छी course आ चुका है जिसे आप पढ़ कर आसानी से एक software engineer बन सकते है.

Software Engineer बनने के लिए आपको शुरू से ही कंप्यूटर की पढ़ाई के बारे में सोचना होगा मैट्रिक करने के बाद से ही आपको Computer की field में जाना होता है जैसे कि मैट्रिक से पहले.

कंप्यूटर की बेसिक जानने के किये बेस्ट कोर्स

आपको Computer Basic Knowledge को प्राप्त करना होगा. जिसके मुख्य कोर्स इस प्रकार है आप Computer की Basic जानने के लिए Diploma in Computer Application (DCA) और Advance Diploma in Computer Application (ADCA) कर सकते है अगर आपको आगे की पढ़ाई Computer Field में करना चाहते है, इसे Information Technology (IT) Field भी कहा जाता है.

आपको बता दे कि आगे computer की basic के बारे बताया जाएगा आप अच्छी तरह से पूरा पढ़े अगर आप एक Computer Student है तो, आपको अगर आगे की पढ़ाई कंप्यूटर की फील्ड में करना है तो आपको जो जो कोर्स मैने बताया है वो 10th से पहले ही कर ले.

जैसे कि आप मैट्रिक (10th) पूरा हो जाता है आपको Science की Subject लेकर आगे की पढ़ाई करने होगा आप चाहे तो Commerce भी ले सकते है, लेकिन Commerce में आपको Charted Accountant (CA) बनने का मौका मिल सकता है.

आगर आपको एक CA बनना है तो ये भी कोई खराब कोर्स नही है इसमें भी आप 50,000 माह आराम से कमा सकते है, जबसे हमारी भारत मे Goods & Service Tax (GST) आया है तो Charted Accountant (CA) की मांग बहुत तेजी से बढ़ रहा है.

अगर आपको सॉफ्टवेयर इंजीनयर बनना है तो आपको 12वीं में Science के साथ साथ Mathematics, Physics, Chemeistry, और सबसे जरूरी Subject सभी Software Engineer बनने वाले छात्रों के लिये आप “Computer Scienec” की Subject को लेना न भूले क्योंकि यही वो जगह है जहाँ से Computer की पढ़ाई Start होती है.

12वीं complete होने के बाद आप आप B.Sc में Admission के और Subject आपको लेने है Becholar of Technology (B.Tech) अगर आप B.Tech नही करना चाहते है तो आप Bachelor of Computer Application (BCA) Course कर सकते है ये दो Course Computer की field में best माना जाता है इन कोर्स को करने के बाद आप कम से कम 40,000 से 50,000 महीना कमाने का लक्ष्य प्राप्त होगा. इसके आगे भी बहुत सारी Course है जिसे आप अपने हिसाब से कर सकते है.

Computer कैसे बनाया जाता है?

Computer को बनाने में या तैयार करने में मुख्यतः दो चीजो का उपयोग किया जाता है, Computer निर्माण करने में Software और Hardware की जरूरत होती है. आगे आप जानेंगे कि कंप्यूटर की Hardware एंड Software क्या है.

सॉफ्टवेयर क्या है – What is Software?

किसी भी Computer को Run करने के लिए उसके अंदर जो Install किया जाता है जिससे हमें Visual दिखाई देता है, Software कहलाता है. सॉफ्टवेयर को हम अपने हाथों से छू नही सकते है जैसे कि Operating Sestym (OS), Application, और Drivers ये सभी सॉफ्टवेयर के अंदर आता है ये सभी Software के अंदर आता है.

Hardware क्या है – What is Hardware?

Hardware Computer में इस्तमाल होने वाली वे सारे पार्ट्स जो किसी मेटेरियल से मिलकर बना होता है, जो मुख्यतः Computer की बाहरी हिस्सो में रहता है Hardware कहलाता है. हार्डवेयर में Mouse, Keyboard, Monitor, और Printer में लगे वे सभी पार्ट्स को हार्डवेयर के अंदर आता है.

Generation of Computer

First Generation Computer (1940-1956)

First Generation Computer: कंप्यूटर की पहली Generation 1940 से 1956 तक चली थी, ये कंप्यूटर Vocume Tube Technology पर काम करता था. इसका आकार में बहुत बड़ा था और इसको Use करने के लिए बहुत ज्यादा ऊर्जा की जरूरत होती थी.

जैसा कि बताया गया है कि First Generation Computer बहुत ज्यादा ऊर्जा लेता था और साथ ही बहुत ज्यादा गर्म (Heat) होता था.

Second Generation Computer (1956-1963)

Second Generation Computer: कंप्यूटर की दूसरी Generation 1956 से 1963 तक चली थी, ये कंप्यूटर Vacume Tube की जगह Transistors की Technology पर कार्य करता था. इसका आकार First Generation से थोड़ा छोटा था, एवम इसको use करने के लिए कम ऊर्जा (Energy) प्रयोग होता था.

जैसा कि इसमें काम ऊर्जा लेता था इसी कारण से ये गर्म भी ज्यादा नही होता था. क्योंकि इसे बनाने के लिए अच्छी Programming Language जैसे कि Fortran और Cobol का इस्तेमाल किया जाता था.

Third Generation Computer (1964-1971)

Third Genaration Computer: कंप्यूटर की तीसरी Generation 1964 से 1971 तक चली थी इसमे पहली बार छोटा किया गया था जो Integated Cercite पर कार्य करता था. इस प्रकार की कंप्यूटर में proccecing करने की क्षमता बहुत अधिक थी बाकी सभी Generation की तुलना है.

यही वो कंप्यूटर है जहाँ से हमे मतलब की सामान्य लोगो के लिए Computer Launch कर दिया था और यहाँ से अभी तक कंप्यूटर को कभी नही भुला गया है क्योंकि अब ये बहुत ज्यादा हमारी life में काम आता है बिना Comouter आज की दुनिया मे कोई चीज नही है.

Fourth Generation Computer (1971-1985)

Fourth Generation Computer: कंप्यूटर की चौथी Generation 1971 से 1985 तक चली इसका निर्माण करने में Micro Processor का उसे किया गया था और इसी Technology पर आधारित ये कंप्यूटर था. अतः इस जनरेशन की कंप्यूटर में काम करने की क्षमता बहुत ज्यादा बढ़ गयी थी और कंप्यूटर पर सभी का आसान हो गयी थी.

Fifth Generation Computer (1985-Present)

Fifth Generation Computer: कंप्यूटर की पांचवीं Generation सबसे ज्यादा क्रांति और बहुत ही बेहतर User Friendly और सब चीज Automatic जायद दिमाग वाला Super Computer जो Present चल रहा है, इसका निर्माण 1985 से Present तक चल रहा है.

Fifth Generation Computer में World की Best Technology Artificial Intelligence पर कार्य करता है और जो समझने में और Data को Process करने में महारत हासिल है.

कंप्यूटर की फुल फॉर्म – Full form of Computer

C- Commonly
O- Operated
M- Machine
P- Particularly
U- Used For
T- Technical and
E- Education
R- Research

Computer का Brain किसे कहा जाता है?

Computer का Brain Central Procceng Unit (CPU) को कहा जाता है, क्योंकि कंप्यूटर में होने वाली सारी प्रतिकिया पर इनकी वजह से ही होती है.

Parts of CPU

कंप्यूटर की सभी पार्ट्स इनके अंदर ही लगी होती है अगर आप एक कंप्यूटर की शिक्षक है या स्टूडेंट न तो आपको ये बहुत अच्छी तरह से पता होगा. कंप्यूटर में लगने वाले मुख्य: पार्ट्स है जो CPU में लगते है Motherboard, RAM, Hard Disc, Procceser, और बहुत सारे पार्ट्स जो एक CPU का निर्माण करता है.

कंप्यूटर के प्रकार – Types of Computer

कंप्यूटर बहुत सारे प्रकार के होते है क्योंकि present में जितनी भी मशीनों का हम उपयोग कर रहे है वे सभी कंप्यूटर कहा जाता है.

Desktop जिसे आप PC मतलब की Personal Computer भी कहा जाता है, उसके बाद Laptop आता है लैपटॉप एक प्रकार का कंप्यूटर है, Tablet भी कंप्यूटर की प्रकार में से एक है  उसके बाद जो आप अभी इस्तेमाल कर रहे है Smartphone, TV, और जितने भी मशीनों का हम उपयोग कर रहे है ये सभी Computer के प्रकार में से एक है.

कंप्यूटर के फायदे – Benefit of Computer

इसमे कोई संदेह नही है कि कंप्यूटर अब हमारी जीवन का बहुत बड़ा हिस्सा बन चुका है, क्योंकि कंप्यूटर की बात अगर करे तो आज हम हर वो काम मे करते है जिसको Accurate और सही सही करना होता है और इन कामों में जल्दी भी होता है.

वैसे तो आप खुद जान सकते है कि कंप्यूटर हमारी लाइफ में कितनी आवश्यकताओं को पूरा करने में काम आती है आज हम सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक Computer का इस्तेमाल करते है. इसमे कोई संदेह नही है कि कंप्यूटर हमारे दैनिक जीवन मे एक सुनहरा भविष्य लेकर आई है.

अभी और भी आने वालों दिनों में जैसे जैसे दुनिया ऑनलाइन होती जाएगी वैसे ही कंप्यूटर पर मनुष्यों की निर्भरता बढ़ती जाएगी. आगे जाकर कंप्यूटर के द्वारा ये दुनिया बिल्कुल ऑनलाइन लगने लगेगी.

कंप्यूटर का लाभ आज हम सभी सेक्टर में कर रहे है चाहे वो पढ़ाई में हो या बिजनेस हो है कोई काम हो गया किसी भी कामों को सही-सही और सहजता से करने का हुनर सिर्फ computers में होता है. कंप्यूटर का इस्तेमाल अब तो बड़ी बड़ी कंपनिया अपनी Product की Production करने ने भी करने लगे है इससे काम भी सही तरीके से हो जाता है और टाइम भी बहुत कम लगता है.

Present में अभी बड़ी कंपनियां जैसे कि कार बनने वाली, बाइक बनाने वाली या किसी भी तरह के चीजो को बनाने में कंप्यूटर का इस्तेमाल बढ़ गया है.

Conclusions

हमे उम्मीद है  हम कंप्यूटर के फील्ड में बहुत अच्छी जानकारी देने में सक्षम हो पाया हूँ आपको लगता है कही हमसे कोई चीज छूट गयी है Computer क्या है और कंप्यूटर का जनक किसे कहा जाता है से Related तो आप हमारी हेल्प जरूर करे.

यदि आपके मन मे कोई और भी सवाल है Computer से Related तो नीचे कमेंट कीजिये में उसका जवाब जरूर दूंगा हमारी दोस्तो हमारी ये पोस्ट Computer क्या है और कंप्यूटर का प्रकार, जनरेशन की पूरी जानकारी कैसा लगा इसका भी जवाब कमेंट बॉक्स में जरूर दे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here