Bihar Walo Ko Kabu Me Kaise Kare, यूपी बिहार वालों को काबू में कैसे करें 

आजकल गूगल में बहुत सारी बहुत तरह तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें यह भी पूछे जाते हैं कि यूपी बिहार वालों को काबू में कैसे करें. आपको सीधे तौर पर बता दीजिए चाहे किसी भी रोज किसी भी स्टेट का क्यों ना हो किसी भी जगह के रहने वाले क्यों ना हो पूरा भारत में रहने की आजादी सभी को है. कोई भी किसी को काबू करने के बारे में बिल्कुल ना सोचे और यह गलत बात है.

आज के इस लेख में Bihar Walo Ko Kabu Me Kaise Kare के बारे में संपूर्ण जानकारी मिलने वाली है. इंटरनेट पर सर्च किए जाने वाले इस सवाल का जवाब आप सभी लोगों के पास तो पहले से ही मौजूद होगा. क्योंकि कोई भी कहीं कभी रहने वाला हो किसी को काबू में करना इतना आसान नहीं होता है खास करके बिहारियों को.

क्या आपको पता है यूपी और बिहार वाले मजदूर ही जाकर दिल्ली और मुंबई जैसे बड़े महानगरों को चलाते हैं. आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि अगर वह लोग सभी लोग अपने गांव में आकर अपने जगह में आकर यूपी या बिहार में आकर काम करने लगे तो बड़े-बड़े महानगरों में क्या हाल होगा.

इस बात का अंदाजा लगा पाना बहुत ज्यादा मुश्किल है क्योंकि बिहार और यूपी के रहने वाले लोगों के अंदर मेहनत करने की कला बहुत अधिक होती है जिस कारण से उन्हें हर जगह पसंद किया जाता है. ऐसे में बिहार वालों को काबू में करना. और बिहार वालों को काबू में करने की बात करना बहुत ज्यादा नकारात्मक सोच को प्रदर्शित करती है.

विषय सूची

Bihar Walo Ko Kabu Me Kaise Kare?

यूपी बिहार वाले इतने ज्यादा मेहनत फुल आदमी होते हैं जो अपनी मेहनत के दम पर अपने पूरे परिवार को पूरी जिंदगी पर बाहर रह कर बिता देते हैं. धूप चाहे कितनी भी हो, गर्मी चाहे कितनी भी हो, परेशानी चाहे कितनी भी हो यूपी-बिहार वाले लोग कभी पीछे नहीं हटते क्योंकि मेहनत इनके रगों में बहती है और मेहनत करना इनका काम है.

गूगल पर बहुत सारे प्रश्न बिहार वालों को काबू में कैसे करें इससे संबंधित मिलते हैं. साथ ही गूगल पर बहुत सारे जवाब ऐसे मिलते हैं जो बिहार वालों को बहुत बुरी नजर से देखने के बारे में मिलते हैं.

Bihar Walo Ko Kabu Me Kaise Kare
Bihar Walo Ko Kabu Me Kaise Kare

लेकिन आपको बता दो कि बिहार वाले इतने कमजोर नहीं होते हैं कि किसी के कामों में आ सकते हैं. लेकिन हां अगर आप प्यार से चाहे तो उसे कोई भी काम करवा सकते हैं किसी प्रकार के काम करवा सकते हैं. लेकिन कोई भी बिना उनकी मर्जी के किसी भी काम को करवाने की कोशिश करना बेकार है साथ ही बिहार वालों को काबू में करना या काबू में करने के बारे में सोचना बेकार है.

नीचे आपको बिहार के लोगों को काबू में करने के लिए बहुत प्यारे-प्यारे तरीकों के बारे में दिया गया है इसका उपयोग करके आप बिहार के लोगों को काबू नहीं कर सकते हैं.  क्योंकि आप सभी को यह भी पता होगा कि पूरे भारत में सबसे ज्यादा आईएएस ऑफिसर सिर्फ बिहार में ही होते हैं और ऐसे में बिहार को एक मूर्ख राज्य समझना बहुत गलत होगा.

देश की तरक्की में योगदान हो, देश की सेवा में योगदान हो या फिर देश के पदाधिकारियों के समूह में योगदान हो बिहार हमेशा सबसे ऊपर नजर आता है, साथ ही बिहार के लोगों के प्रति हमारी जो सोच है जो बाहर के राज्यों के सोच है उसे बदलने की जरूरत है,

क्योंकि बिहार के लोग कहीं बाहर से दूसरे मुल्क से दूसरे देश से रहने नहीं आए हैं या हमारे ही भारत के किसी अन्य राज्य आए हुए हैं और पूरे भारत के लोग हमारे अपने हैं और हमारे भाई बहन हैं

यूपी बिहार वाले पूरे देश में सबसे ज्यादा मेहनती होते हैं?

राज्य चाहे कोई भी हो जगह चाहे कोई भी हो वहां रहने वाले सभी नागरिकों को एक समान व्यवहार करने का हक है. क्योंकि यहां कोई बाहर से रहने वाला नहीं आया है सभी भारत के रहने वाले हैं और भारत के रहने वाले लोगों को कहीं भी रहने की आजादी है.

भारत के संविधान के मुताबिक कोई भी भारत के रहने वाले इंसान भारत के किसी भी हिस्से में जाकर रह सकते हैं आप भी सकते हैं और अपना कारोबार कर सकते हैं.

भारत के लोग काफी मेहनती होते हैं जिसमें बिहारी सबसे ज्यादा मेहनती होते हैं इसका मुख्य कारण यह है कि बिहार के लोगों को अपने परिवार और घर को चलाने के लिए काफी ज्यादा मेहनत करना पड़ता है.

क्योंकि बिहार में रोजगार को लेकर बहुत ज्यादा मारामारी है नहीं तो कोई भी अपनी राज्य और अपने परिवार छोड़कर दूसरे राज्य कमाने क्यों जाएगा. लेकिन बिहार यूपी वाले लोगों के द्वारा इतनी मेहनत करने के बावजूद भी उन्हें लोग इज्जत की नजर से नहीं देखते हैं.

इंसान चाहे कोई भी हो इंसान इंसान होता है इंसान के आधार पर ही लोगों को उससे भेदभाव और व्यवहार करना चाहिए क्योंकि इंसान इंसान होता है चाहे कोई भी देश का हो किसी भी जगह पर आने वाला क्यों न हो.

दुनिया को इतनी ज्यादा मेहनती होने का एक फायदा यह यह भी है कि दिल्ली और मुंबई वाले लोगों को बैठे-बिठाए किसी भी काम को करवाने के लिए बिहारियों की जरूरत पड़ती है. बिहार वाले किसी भी जगह रह कर कितने भी प्रॉब्लम मैं रह कर कर काम कर सकते हैं.

सबसे ज्यादा आईएएस ऑफिसर बनने वाला राज्य बिहार है?

बिहार को सर्वाधिक आईएएस ऑफिसर देने वाला राज्य कहा जाता है क्योंकि यहां के लोग दिल्ली जाकर और राजस्थान जाकर पढ़ाई करते हैं और आईएएस आईपीएस जैसे ऑफिसर बनते हैं. किसी भी राज्य में अब इतनी हिम्मत नहीं है कि बिहार से ज्यादा आईएएस और आईपीएस ऑफिसर को पैदा कर सके.

इस कारण से बिहार वासियों को कमजोर समझना अच्छी बात नहीं है क्योंकि एक सर्वाधिक राज्य जो की आईएएस ऑफिसर पैदा करता है जहां से लगातार हर साल बहुत सारे आईएस निकल कर जाते हैं उसे राज जी को पिछड़ा राज्य कहना सही नहीं है.

साथ ही बिहारियों को काबू करने के बारे में सोचना, या तो यूपी वालों को काबू करने के बारे में सोचना आपके मानसिक रोगी होने का सबूत है. एक सर्वाधिक आईएस ऑफिसर देने वाला राज्य कमजोर कैसे हो सकता है कि वह किसी दूसरे राज्यों के लोगों को अपने कामों में आने दे सकते हैं.

हर जगह सफल रहे बिहार वाले

मैदान चाहे कोई भी हो, प्रतियोगी परीक्षा से लेकर आईएएस परीक्षा, मजदूरी से लेकर मेहनत तक का सफर बिहार वाले हंसते-हंसते पार कर लेते हैं. इतना तो होगी आप लोग जान ही गए होंगे कि बिहार वाले कितनी मेहनत करते रहते हैं और अपने परिवार को चलाते हैं.

बिहार वाले हर जगह इसलिए सफल होते हैं क्योंकि बिहार वालों के रग रग में मेहनत भरी होती है. और बिहार वाले लोग अपनी मेहनत से कभी पीछे नहीं हटते हैं यही कारण है कि बिहार के लोग हर जगह देश के कोने कोने में मिलेगा.

जैसे कि आप इस बात का पता लगा सकते हैं बिहार का सबसे पवित्र त्यौहार छठ पूजा की है जो कि पहले झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश में मनाई जाती थी लेकिन अभी हर जगह बनाई जाती है क्योंकि बिहारी और बिहार वाले हर जगह पहुंचकर अपनी परंपराओं को बढ़-चढ़कर मनाते हैं.

अगर आप आईएस के फील्ड में देखते हैं तो आईएस में सबसे ज्यादा सफल और प्रतियोगी परीक्षा में सफल बिहार के छात्र छात्राओं के द्वारा देखा जाता है. पूरे भारत में बिहार यह राज्य है जहां सर्वाधिक आईएससी टॉपर निकलते हैं.

हेलो गूगल बिहारियों को काबू में कैसे करें?

हालांकि यह बात अलग है कि गूगल में किस तरह के प्रश्न बिहार वालों के प्रति पूछा जाता है वह काफी ज्यादा निराशा करने वाली है. क्योंकि गूगल एक सर्च मशीन है उन्हें यह चीजें नहीं पता है कि क्या आज है क्या खराब है.

गूगल तुम किसी के द्वारा बताए गए प्रश्नों को अपने सरवर में सेव करके अपनी यूजर्स को वही सवाल दिखाते हैं यही कारण है कि जिस तरह के सवाल और जवाब गूगल को मिलती है और उसी तरह के सवाल जवाब गूगल तक पहुंचाते हैं.

आपको बता दें कि जहां 25 30 साल के नौजवान पूरे देश भर में अपने काम को करते हैं और बड़े ग्रुप प्राइवेट कंपनियों में काम करते हैं.वही बिहार वाले यूपीएससी की तैयारी करते हैं और 30 साल बाद या तो 35 साल बाद ऑफिसर बनकर घर लौटते.

सर्वाधिक आईएएस ऑफिसर देने वाला राज्य अपने आप में गर्व महसूस करता है लेकिन अंदर ही अंदर एजुकेशन व्यवस्था सही ना होने के कारण यहां के लोगों को पलायन कर गए दूसरे राज्यों में काम करने के लिए मजबूर हो जाते हैं. जिस कारण से लोग उन्हें कम पढ़े लिखे और बेकार आदमी समझने लगते हैं लेकिन दरअसल ऐसा नहीं है.

क्योंकि बिहार वाले जहां रहते हैं वह अपने दम पर अपनी मेहनत मजदूरी के दाम पर अपने काम के दम पर खाना पीना खाते हैं और किसी दूसरे के बारे में कुछ नहीं कहते हैं. बिहारी दूसरे के राज में रहने तो जरूर जाते हैं लेकिन वहां जाकर वहां के रहने वाले लोगों के प्रति अच्छा व्यवहार रखते हैं.

बिहारियों को काबू में कैसे करें, औकात में रहकर सर्च करें?

दोस्तों बिहार लोग समझते हैं बिहार में ज्यादा गुंडागर्दी और जंगलराज सकता है लेकिन ऐसा नहीं है कहीं-कहीं तो इस तरह के माहौल हर राज्य में होते हैं. लेकिन सवाल यह है कि सिर्फ बिहारियों को ही क्यों बदनाम किया जाता है उन्हें हर जगह से इस तरह की व्यवहार देखने को मिलता है.

 हालांकि बिहारी अपने दम पर अपने शहर में गुंडागर्दी की तो बात ही अलग है बिहार वाले अपने एरिया में किसी को कदम तक रखने नहीं देते हैं. लेकिन यह गुंडागर्दी वह हर जगह नहीं करते हैं और जो गुंडागर्दी करते हैं वह अपने एरिया में ही रहकर करते हैं साथ ही आपको यह भी बता दे कि बिहार के लोग पूरे भारत में हर जगह मौजूद है.

इसीलिए हो सके तो बिहार बानो से ज्यादा पंगा ना ले नहीं तो आपके साथ बहुत बुरा हो सकता है. क्योंकि जब बिहार किसी चीज पर पड़ जाता है तो उसने नहीं देता और बिहार की जमीन उसे मरने नहीं देती. आपको बता दें कि बिहार के लोग बहुत ही जिद्दी होते हैं.

हेलो गूगल क्या बिहारियों को काबू में किया जा सकता है ?

ऐसे तो किसी को भी काबू में नहीं किया जा सकता है चाहे वह बिहारी हो या यूपी वाले हो किसी को भी काबू में करने के लिए वह प्यार से मनाना पड़ता है. तुम आइए जानते हैं कि हम बिहारियों को और यूपी वालों को काबू में करने के लिए क्या क्या कर सकते हैं.

नीचे दिया गया निम्नलिखित तरीकों से आप बिहार वालों को काबू में कर सकते हैं. और इन्हीं तरीकों को पढ़कर आप यूपी वालों को काबू में कर सकते हैं इस तरह से आप कह सकते हैं कि गूगल हम यूपी बिहार वालों के लौंडो को काबू में कैसे करें,  हुआ तो यूपी बिहार वाले लड़कों को काबू में कैसे करें.

बिहारियों से दोस्ती करें

इस दुनिया में सबसे बड़ा रिश्ता दोस्ती का होता है और दोस्त बनाने के बाद जो हम जैसा बोलते हैं हमारे दोस्त वैसा ही करते हैं और वह भी बड़े प्यार से. किसी को भी कोई काम हो यह किसी से कोई काम करवाना हो तो आप प्यार से उसे करवा सकते हैं दोस्ती के रूप में.

क्योंकि बिहार वाले और यूपी वाले दोस्ती की कीमत समझते हैं और दोस्तों के लिए जान तक देने के लिए तैयार रहते हैं अगर आप दोस्ती के नाते उन्हें काबू में करना चाहते हैं तो आप बिल्कुल आसानी से कर सकते हैं. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप उसे पूरी तरह काबू में कर सकते हैं.

Bihar Walo Ko Kabu Me Kaise Kare
Bihar Walo Ko Kabu Me Kaise Kare

आप बिहारियों से दोस्ती के नाते किसी भी तरह का काम करवा सकते हैं और अपने साथ घूमने फिरने के लिए राजी कर सकते हैं. क्योंकि बिहार वाले किसी भी तरह का भेदभाव नहीं रखते हैं और सभी को मिलजुल कर रहने में ही विश्वास रखते हैं.

बिहारियों से अच्छा व्यवहार करके उसे काबू में कर सकते हैं?

हालांकि काबू करना शब्द अच्छा नहीं लगता लेकिन आप बिहारियों के साथ अच्छा व्यवहार करके अपनी इज्जत बना कर अब उनसे कोई भी काम करवा सकते हैं. लेकिन बात यहां काम करवाने की नहीं है तो आप उसे अपने दोस्त के रुप में एक बेहतर दोस्त पा सकते हैं.

बिहारी लोग अलग मिजाज के होते हैं और दोस्ती यारी रिश्तेदार में खास ज्यादा विश्वास रखते हैं यही कारण है कि लोग बिहारियों को ज्यादा पसंद करते हैं काम करने के लिए क्योंकि अगर कोई काम बिहारी ले लेते हैं तो उसे बिना पूरा कि वह नहीं हटते हैं.

एक सर्वे के मुताबिक ऐसा माना जाता है कि किसी भी बड़े महानगरों को चलाने के लिए जिसकी जरूरत पड़ती है जो वहां मजदूर काम करते हैं वह जो कि बिहार के ज्यादा होते हैं. यही कारण है कि उन्हें हर जगह काम मिल जाती है और वह काम करने में एकद बेहतर होते बेहतर होते हैं.

कुशल कारीगर होते हैं बिहारी

दिल्ली हो या मुंबई हो, छोटी इमारते हो या बड़ी बड़ी मंजिलें हो, सड़क हो या नाला हो किसी प्रकार का काम बिहारी सबसे बेहतर ढंग से करते हैं. बिहारियों को आज दिल्ली मुंबई में बहुत सारे काम करने के लिए बड़े-बड़े बिल्डिंग बनाने के लिए बुलाया जाता है.

क्योंकि यहां के मजदूर बहुत कुशल कारीगर होते हैं और सभी तरह के काम करने के लिए निपुण होते हैं. आज जो चमकती इमारते मुंबई महानगरी, और फिल्म सिटी में काम करने वाले आधा से ज्यादा मजदूर बिहारी होते हैं.

आप भारत के किसी भी मशहूर शहर में जाइए चाहे बैंगलोर हो, मुंबई हो, दिल्ली हो, कोलकाता हो, राजस्थान हो हर जगह पर बिहारी मिल जाएंगे. और सभी जगह वह अपने काम को बेहतर ढंग से प्रदर्शित करते हैं. यही कारण है कि काम करने के लिए बिहारियों को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है.

अगर बात बिहारियों को काबू करने में आती है तो आप बिहारियों को दोस्ती के नाते काबू कर सकते हैं और ऐसा कोई रास्ता नहीं है जिससे आप बिहारियों को काम हो गए कर सकते हैं.

अगर आप अभी भी गूगल पर इस तरह के सवाल जवाब करते हैं कि बिहार यह को काबू में कैसे करें या तो यूपी-बिहार वाले लड़कों को काबू में कैसे करें यह बात बिल्कुल गलत है. क्योंकि पूरे भारत में हम सभी को मिलजुल कर रहना है तभी हमारा भारत का विकास होगा.

निष्कर्ष

आज की इस लेख में हमने सीखा है कि Bihar Walo Ko Kabu Me Kaise Kare, और यूपी-बिहार वाले को काबू में कैसे करें,  यूपी बिहार वाले लड़कों को काबू में कैसे करें, बिहारियों को काबू में कैसे करें इत्यादि प्रश्न और उत्तर के बारे में जानने हैं.

उम्मीद है आगे से आप लोगों को बिहारी ही नहीं बल्कि पूरे भारतवर्ष के लोगों के प्रति सम्मान की नजरों से देखा करेंगे. क्योंकि भारत के संविधान के मुताबिक हर किसी को कहीं भी जाकर रहने खाने और काम करने की छूट है. जिसे हम सब लोग मिलकर ऊंच ऊंच वाला खेल खेलते हैं.

यह हमारे देश के लिए पूरे राष्ट्र के लिए बहुत ही ज्यादा खतरनाक है जो कि एक दूसरे से नफरत के भाव से देखते हैं. हम सभी भारतीयों को और सभी लोगों को एक साथ मिलजुल कर रहना चाहिए ताकि हम भविष्य में पूरी दुनिया पर अपनी परचम लहरा सके.

भारत विश्व गुरु बनने की कगार पर है और हमें अपने आपस के झगड़े को यहीं खत्म करके चैन और सुकून की जिंदगी जीना चाहिए. सभी लोग खुश रहे सभी लोग सफल रहे हमारी यही कामना है.

उम्मीद है हमारे द्वारा लिखी गई इस लेख को आप तो बहुत पसंद किए होंगे. यदि अभी भी आपके मन में बिहारियों के प्रति कोई सवाल है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में शेयर करें हम उस पर जरूर अपनी बात रखेंगे

साथ ही हमारी इस लेख को अपनी सोशल मीडिया हैंडल पर फेसबुक इंस्टाग्राम इत्यादि पर शेयर कर के अपने मित्रों के साथ शेयर करें और एक बिहारी और यूपी होने वालों पर गर्व करें. जाते-जाते मेहर टेक हिंदी कि इस वेबसाइट को फेसबुक और टेलीग्राम पर फॉलो करना बिल्कुल ना भूलें ताकि आगे आने वाले जानकारी के बारे में आप सभी को. हमारी वेबसाइट पर पहुंचने के लिए आपका धन्यवाद.

बिहार वाले लड़कों को काबू में कैसे करें?

बिहार यह किसी भी स्टेट के रहने वाले लड़कों को काबू करने के लिए उनके साथ दोस्ती करना चाहिए उनके साथ घूमना फिरना चाहिए. और अपने घर लेकर जाना चाहिए और दोस्ती बनाना चाहिए जिससे वह काबू में आ सके और वह आप उससे अच्छे व्यवहार करें.

पूरे भारत में सर्वाधिक आईएएस ऑफिसर पैदा करने वाला राज्य कौन सा है?

पूरे भारत में सर्वाधिक आईएएस और आईपीएस ऑफिसर पैदा करने वाला राज्य बिहार है. बिहार की युवा 25-30 साल तक पढ़ाई करते हैं और जब तक आईएस नहीं बनते हैं घर की तरफ मुंह नहीं करते हैं.

बिहार वाले इतना मेहनत ही क्यों होते हैं?

यूपी-बिहार वाले लोगों को टाइम पास करना अच्छा नहीं लगता और वह अपनी जगह छोड़कर दूसरे राज्य जाते हैं कमाने के लिए. इसलिए उन्हें टाइम पास करना अच्छा नहीं लगता है यही कारण है कि वह अपने काम पर ज्यादा ध्यान देते हैं और वह काफी कुशल कारीगर होते हैं.

क्या बिहार वाले लोगों को काबू में किया जा सकता है?

ऐसा नहीं है पूरे भारतवर्ष में किसी को भी काबू में किया नहीं जा सकता है और खास करके बिहारियों को तो कतई नहीं किया जा सकता. क्योंकि बिहार वाले काफी ज्यादा हद तक चालाक और बेहतर इंसान होते हैं.

Hi, मैं Rahul मेहर टेक साइट पर आपका स्वागत करता हूँ। मैं अभी BCA कर रहा हूँ, मुझे Computer, Blogging और Technology में बहुत Interest है। मुझे सीखना और सिखाना बहुत पसंद है।

Leave a Comment