Bhagavad Gita Quotes in Hindi | भगवत गीता के सत्य वचन 

जीवन में जीवन जीने की कला को सीखना बहुत जरूरी है इसीलिए आज हम श्रीमद्भागवत गीता कोट्स इन हिंदी जानने का प्रयत्न करते हैं। क्योंकि भारत में बहुत ज्यादा हिंदुओं की जनसंख्या है। साथियों को यह भी बता जो कि भगवद्गीता हिंदुओं के लिए सबसे पवित्र पुस्तक है, जिसमें आज Bhagavad Gita Quotes in Hindi के बारे में जाने वाले हैं।

श्रीमद्भागवत गीता एक ज्ञान से वही पुस्तक है जो हिंदुओं के लिए खास करके बनाया गया है। साथियों को आपको यह भी बता दूं कि यह किताब लोगों को जीवन जीने की कला को सिखाती है और साथ ही अपने जीवन जीने की कला को सिखाती है।

श्रीमद्भागवत गीतापुस्तक में बहुत सारी मोटिवेशन से भरी जानकारियां उपलब्ध है जिससे हम अपने नए नए कार्यों के लिए उपयोग में ला सकते हैं। क्योंकि श्रीमद्भागवत गीता पुस्तक में भगवान श्री कृष्ण के द्वारा अच्छी-अच्छी बातें और बहुत सारी अच्छी-अच्छी ज्ञान से संबंधित बातों को बताया है।

Bhagavad Gita Quotes in Hindi
Bhagavad Gita Quotes in Hindi

इस किताब को पढ़ने पर हमारे मन में जो  किसी प्रकार की सवाल को परखने और उन्हें समझने की प्रेरणा मिलती है। क्योंकि श्रीमद्भागवत गीता पूरी दुनिया में बड़े प्यार से पढ़ा जाता है। और यह किताब पूरी दुनिया के लिए प्रेरणा का स्रोत है, इसीलिए आज के इस पोस्ट में हमने Karma Bhagavad Gita Quotes in Hindi एवं एक सौ से ज्यादा श्रीमद्भागवत गीता कोट्स दिया गया है।

Bhagavad Gita Quotes in Hindi

1. हर सजीव के ह्रदय में परमात्मा स्वरुप स्थित है। जैसे ही कोई किसी देवता की पूजा करने की इच्छा करता है, वह उसकी श्रद्धा को स्थिर करता हूँ, जिससे वह उसी विशेष देवता की भक्ति कर पूजा सके।

2. जिस तरह आदमी पुराने कपड़ो को त्याग कर नये कपड़े धारण करता है। उसी प्रकार आत्मा पुराने तथा व्यर्थ के शरीरों को त्याग कर नया शरीर धारण करता है।

3. फल की आशा छोड़कर केवल कर्म करने वाला आदमी ही अपने जीवन को सफल बनाता है।

4. याद रखिये अगर लोगों सिर्फ समझाने से समझ जाते तो बांसुरी वाला भी कभी महाभारत होने नहीं देता।

5. वह मनुष्य जो सभी इच्छाएं त्याग देता है और सभी लालच और भावना से मुक्त हो जाता है, उसे अपार शांति की प्राप्ति होती है।

6. गुस्सा से भ्रम पैदा होता है, भ्रम से बुद्धि ख़त्म होती है, जब बुद्धि ख़त्म होती है, तब तर्क ख़त्म हो जाता है, जब तर्क ख़त्म होता है तब व्यक्ति का पतन हो जाता है।

7. कई जन्म के बाद जिसे सचमुच ज्ञान होता है, वह मुझको समस्त कारणों का कारण जानकर मेरी शरण में आता है। ऐसा महापुरुष अत्यंत दुर्लभ होता है।

8. जो मेरे आविर्भाव के सही को समझ लेता है, वह इस शरीर को छोड़ने पर इस भौतिक दुनिया में पुनर्जन्म नहीं लेता, अपितु मेरे धाम को प्राप्त होता है।

9. जो आदमी लगातार भाव से मेरी आराधना करते है, उनकी जो आवश्यकताएँ होती है, उन्हें मैं पूरा करता हूँ और जो कुछ उसके पास है, मैं उसकी सुरक्षा करता हूँ।

10. मैं ही जिद, स्वामी, साक्षी, पालनकर्ता, धाम, शरणस्थली तथा अत्यंत प्रिय दोस्त हूँ। मैं संसार तथा ब्रह्माण्ड, सबका आधार, आश्रय तथा अविनाशी बीज भी हूँ।

Karma Bhagavad Gita Quotes in Hindi

11. कर्मों का फल है जो इंसान को हर हाल में काटना ही पड़ता है, इसलिए हमेशा अच्छे में   बीज लगाएं की फसल अच्छी हो।

12. जो हुआ वह अच्छा हुआ जो हो रहा है वह अच्छा हो रहा है, और जो होगा वह हमेशा अच्छा ही होगा।

13.  सदैव संदेह करने वाले व्यक्ति के लिए प्रसन्नता  नहीं इस क में है में है ना ही कहीं और

14.  मुश्किल वक्त हमारे लिए आईने की तरह होता है, जो हमारी क्षमताओं का सही  आभास हमें कराता है।

15. हे अर्जुन जो कोई भी जिस किसी भी देवता की पूजा विश्वास के साथ करने की इच्छा रखता है, मैं उसका विश्वास सूची देवताओं में ढूंढ कर देता हूं।

16. अच्छे कर्म करने के बावजूद भी लोग केवल उसकी बुराइयां ही याद रखेंगे, क्योंकि लोग क्या कहते हैं इस पर ध्यान मत दो तुम अपना कर्म और कर्तव्य को करते हो।

17.  मनुष्य इस जमीन पर ज्ञान प्राप्त करने के लिए ही आया है, जो ज्ञान प्राप्त नहीं कर रहा है वह मृत्यु के समान है।

18. अभिमान नहीं होना चाहिए कि मुझे किसी की जरूरत नहीं पड़ेगी, क्योंकि यह वह हम भी नहीं होना चाहिए कि सब को मेरी जरूरत पड़ेगी।

19.  याद रखना अगर बुरे लोग सिर्फ समझाने से समझ जाते तो, बांसुरी बजाने वाला श्री कृष्ण महाभारत होने नहीं देता।

20. आपको कर्म करने का अधिकार है, फल के बारे में सोचने का नहीं, क्योंकि जो आपके लिए योग्य होगा ईश्वर आपको प्रदान करेगा।

Life Karma Bhagavad Gita Quotes in Hindi

21. सफलता पाने वाले पिछले ही आप उसी की चिंता किए बिना अपने वर्तमान समय को सही से जीवन जीने की कला को सीखते हैं।

22. इस कलयुग में तुझे खुद लड़ना पड़ेगा, क्योंकि अब रामकृष्ण नहीं आएंगे अब तुम्हें खुद ही समझाना पड़ेगा।

23. हे अर्जुन –  मनुष्य के चरित्र का निर्माता मनुष्य का खुद का आत्मविश्वास होता है, जो मनुष्य जैसा आत्मविश्वास करता है उसे वैसा ही व्यक्तित्व मिलता है।

24. श्री कृष्ण कहते हैं –  इंसान का कमजोर हो ना उस समय शुरू हो जाता है जब वह अपनों को गिराने की सलाह किसी दूसरे से लेना शुरू कर देता है।

25. जल्दबाजी में किया गया विश्वास और मेहनत की बिना लगाई गई विश्वास, दोनों का परिणाम बुरा होता है।

26. हरनाथ की पहचान है मुझको अपनी जरूरत है, रखना तुम मेरी लाज बस अपनी रहमत से।

27. अपनी जिंदगी में दो लोगों का होना बहुत जरूरी है, एक ग्रुप है जो बिना लड़े ही जीत पक्की कर लें और दूसरा करण जोहार सामने हो फिर भी साथ ना छोड़े।

28. जब किसी को चाहो तो यह उम्मीद मत करो कि यह तो तुम्हें ही चाहे, कोशिश करो तुम्हारी चाहत ऐसी हो कि उसे तुम्हारे सिवा किसी गैर की चाहत पसंद ही ना आए।

29. हे अर्जुन –  अगर हम दोनों ने कल सुन ली है मुझे याद है लेकिन तुम्हें नहीं।

30. जो सत्य पुरुष होता है वह दूसरों के उपकार ओ को ही याद रखते हैं, किसी खास के द्वारा किए गए बैर को बिल्कुल ही नहीं याद रखते हैं।

Bhagavad Gita Quotes in Sanskrit

Karma Bhagavad Gita Quotes in Hindi

31. वह कर्मों का फल के लिए करता है, वास्तव में नाव से फल मिलता है नहीं कर्म और नहीं कोई दूसरी जन्म।

32. कर्म करते समय कोई हानि या कोई परिणाम स्वरुप दोष नहीं है, लेकिन इस निस्वार्थ कार्य का एक छोटा सा प्रयास में हमें बड़े खतरे से बचाता है।

33. हे अर्जुन –  नर्क कि केवल तीन ही द्वार हैं,  प्रभु लाल काम दूसरा क्रोध और तीसरा लालच।

34. कृषि प्रवेश करेगी को भी गतिविधि से मुक्ति प्राप्त नहीं कर सकता, और केवल काम को करने से इनकार करते हुए शुद्धता तक नहीं पहुंच सकता है।

35. आपका मकसद कार्य में होना चाहिए ना की घटना में, क्योंकि ऐसा मत बनो जिसका काम का मकसद इनाम की आशा है।

36. सबसे ज्ञानी और अच्छी बुद्धि वाला वही आदमी है जो सफलता मिलने पर अहंकार में नहीं आता और और सफलता मैं गम में नहीं डूबता।

37.  किसी भी अज्ञानी व्यक्ति से बहस मत करो, क्योंकि जो लोग समझ ही नहीं पाएंगे कि असल में मूर्ख कौन है।

38. हमेशा खुश रहा करो क्योंकि फालतू की चिंता करना ही बेकार है, गीता में श्रीकृष्ण ने बार-बार यही तो कहा क्यों व्यर्थ चिंता करते हो, क्यों व्यर्थ में डरते हो कौन क्या बिगाड़ सकता है।

39. यदि आप अपने कर्तव्य करने का यज्ञ करते हैं, तो आपको कुछ और करने की जरूरत नहीं है। क्योंकि किसी भी इंसान के लिए कर्तव्य के प्रति समर्पित आदमी 72 कहलाता है।

40. जो बीत गया है उस पर विचार कैसा, और जो उस पर अहंकार कैसा और वह आने वाला है उसका मोह कैसा।

Bhagavad Gita Quotes on Life

41. हे अर्जुन –  मेरा तेरा छोटा बड़ा अपना पराया, मैं उसे मिटा दो फिर सब तुम्हारा है तुम सबके हो।

42. जब बुरे दिन आते हैं तो मनुष्य की बुद्धि भी डगमगा जाती है, इंसान चाह कर भी सही दिशा नहीं सुन पाता है, इसीलिए तो कहा जाता है मुझसे बुरा नहीं होता उसका वक्त बुरा होता है।

43. मैं सभी प्राणियों को एक समान रूप से देखता हूं, क्योंकि मेरे लिए कोई काम ज्यादा नहीं है, लेकिन जो मनुष्य स्वभाव पूर्वक मेरी आराधना करते हैं, वह मेरे अंदर रहते हैं और मैं उनके जीवन में आता जाता रहता हूं।

44. जब तक किसी भी बात की जानकारी पूरी ना तब तक हमें मौन रहना चाहिए, क्योंकि अधूरा सत्य पूर्ण झूठ से कई गुना ज्यादा खतरनाक होता है।

45. किसी ने पूछा कि महाभारत का कौन सा पात्र बनना चाहोगे, तो मैंने जवाब दिया श्रीकृष्ण की औरत का एक घोड़ा जिसकी लगाओ सीधे सांवरे के हाथ हो।

– Rajshri Soul

46. वो आदमी लगातार और हमेशा अच्छी बात है भगवान के रूप में मेरा स्मरण करता है, वह मुझ को ज्यादा प्रिय लगता है।

47. जो व्यक्ति कमजोर पड़ने लग जाता है, तो आपको अपने वर्तमान में ध्यान केंद्रित करने की जरूरत पड़ती है।

48. चमत्कार उन्हीं के साथ होते हैं, जिनके मन में अति विश्वास पहले से होता है।

49. कमजोर व्यक्ति कभी माफी नहीं मांगते, क्षमा करना तो ताकतवर आदमी की पहचान होती है।

50. कोई तुम्हारा बुरा करे उसका कर्म है लेकिन हम किसी का बुरा ना करें या हमारा धर्म है।

51. मनुष्य कर्म करने में मनमानी कर सकता है, परंतु अपने किए गए कर्मों की सजा भोगने में नहीं कर सकता है।

52. शांत तुम इसलिए नहीं हो क्योंकि गैरजरूरी के पीछे पड़े हो।

53. सत्य ही तो परम धर्म है, और श्री कृष्ण ही सत्य है।

54. विश्वास, समय और सम्मान यह एक ऐसी पक्षी है, जो एक बार उड़ जाए तो फिर दोबारा कभी वापस नहीं आता।

भगवत गीता के सत्य वचन

इस लेख में हमने Bhagavad Gita Quotes in Hindi | भगवत गीता के सत्य वचन के बारे में पूर्ण ईमानदारी से और मेहनत पूर्वक सोच समझकर श्रीमद्भागवत गीता कोट्स संग्रह को इस लेख में शामिल किया है। क्योंकि श्रीमद्भागवत गीता एक बेहद ही अच्छी किताब है और इनके बताएंगे रास्तों पर हम सभी को चलना चाहिए।

अगर कहीं भी किसी भी वाक्य या किसी भी शब्द में किसी प्रकार की कोई दिक्कत है तो कृपया हमें कमेंट में सूचित करें। हम जल्द ही उस शब्द को अपडेट करने की कोशिश करेंगे। अगर हमारे द्वारा लिखी गई यह लेख आपको पसंद आई है तो कृपया अपने दोस्तों के साथ अपनी सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर शेयर करें।

FAQ

  • भगवत गीता क्या है?

    भगवद्गीता एक प्रकार का धार्मिक ग्रंथ है जो हिंदुओं में सबसे ज्यादा पवित्र माने जाते हैं।

  • भगवत गीता में किस प्रकार की बातें सिखाई गई है?

    श्रीमद्भागवत गीता में एक नॉर्मल इंसान को जीवन जीने की कला और बहुत सारी चीजों को दर्शाया गया है जो हमारे दैनिक जीवन में ज्यादा प्रयोग होते हैं।

  • श्रीमद भगवद गीता कोट्स क्या है?

    यह प्रकार का शब्द है जो श्रीमद्भागवत गीता किताब से लिया गया है। जिसे पढ़ कर हम सभी को नई जीवन जीने की हरा दिखाती है।

  • सबसे अच्छी श्रीमद्भागवत गीता कोट्स कौन सी है?

    इंसान के परिचय की शुरुआत भले ही उसके चेहरे से होती होगी, लेकिन उसकी संपूर्ण पहचान तो उसकी वाणी से ही होती है।

  • Bhagavad Gita Quotes in Hindi?

    कभी कभी जीवन में आगे बढ़ने के लिए 29 जाओ और उन व्यक्तियों को भी त्यागना पड़ता है, जो कभी तुम्हारी दिल की गहराई में विलीन थे।

Hi, मैं Rahul मेहर टेक साइट पर आपका स्वागत करता हूँ। मैं अभी BCA कर रहा हूँ, मुझे Computer, Blogging और Technology में बहुत Interest है। मुझे सीखना और सिखाना बहुत पसंद है।

Leave a Comment